संतान प्राप्ति के लिए अपनाए यह 8 अचूक टोटके

विवाह एक पवित्र बंधन माना जाता है, जो एक लड़का व लड़की को पति और पत्नी के अटूट रिश्ते में बांधते हैं। एक समय आता है जब पति-पत्नी एक नए रिश्ते यानी कि मां और पिता के अनोखे रिश्ते में बंधना चाहते हैं और वह चाहते हैं कि उनके यहां संतान का जन्म हो। माता-पिता बनना किसी सौभाग्य से कम नहीं होता है। हर कोई माता-पिता होने का गौरव प्राप्त करना चाहता है। वहीं, शास्त्रों की मानें तो संतान प्राप्ति की इच्छा को तीन नैसर्गिक इच्छाओं में से एक माना गया है तथा संतान प्राप्ति को पूर्व जन्मों के कर्मों का सफल भी माना गया है।

बता दें कि नि:संतान होना किसी दंपति के लिए अपार मानसिक पीड़ा की बात होती है। बहुत बार ऐसा भी होता है कि आपकी बात बनते-बनते बिगड़ सी जाती है, ऐसे में जरूरत होती है किसी सहारे की… ईश्वर अनुग्रह, गुरु कृपा, तंत्र-मंत्र-यंत्र के प्रयोग, कोई अनुष्ठान या फिर व्रत-उपवास। जान लें कि यह ऐसे ही कुछ सहारे हैं जो मंजिल के करीब पहुंची गाड़ी को धकेल कर उसके अंजाम तक पहुंचा देते हैं।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है ऐसे ही 8 कुछ सरल उपाय… जिससे संतान प्राप्ति का सुख आपको मिल सकता है –  

• अगर आप भी उन यंग जोड़ों में से एक हैं जिन्हें संतान की प्राप्ति नहीं हो पा रही है, तो आप यह नुस्खा अपना सकते हैं – किसी भी बालक के पहली बार टूटे हुए दूध के दांत को लेकर अगर कोई स्त्री इसे श्वेत वस्त्र में लपेट कर बाईं भुजा से बांध लेती है तो उसे संतान प्राप्ति का सुख ज़रूर मिलता है। यही नहीं, मनोकामना पूरी होने तक रोजाना सूर्योदय से पूर्व बाल-कृष्ण का 15 मिनट तक नियमित रूप से ध्यान अवश्य करें।

• वहीं, जब संतान प्राप्ति के आपके सारे उपाय असफल हो जाए, तो तत्काल फल देने वाली यह साधना अवश्य करें क्योंकि इससे आपको लाभ की प्राप्ति होगी। बच्चे की कामना रखते हैं तो वैष्णों देवी ज़रूर जाएं और अर्धकुंवारी गुफा के अंदर बैठ कर रूद्राक्ष की माला से बताए जा रहे मंत्र का जाप अवश्य से करें  ऊं ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै।

• यही नहीं, किसी भी गुरूवार को पीले धागे में पीसी हुई कौड़ी को कमर पर बांध लें क्योंकि इससे आपको संतान प्राप्ति का प्रबल योग बनता है।

• याद से रविवार को छोड़ कर अन्य सभी दिन निसंतान स्त्रियां यदि पीपल के पेड़ पर दीपक जलाती है और सच्चे मन से उसकी परिक्रमा भी करती है तो आपको संतान की प्राप्ति ज़रूर से होगी और साथ ही आपकी सारी इच्छा भी पूरी होगी।

• जानकारी के लिए बता दें कि संतान की प्राप्ति के लिए दंपत्ति को अपने घर में नवग्रह शांति का पाठ भी ज़रूर करवाना चाहिए, क्योंकि इसी से आपके सारे दोष नष्ट हो जाएगें।

• दूसरी ओर इच्छित संतान की प्राप्ति के लिए गोपाल यंत्र को आप अपने घर के पूजा स्थान पर स्थापित कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रहे कि इस यंत्र का स्थापन करने से पहले इसका विधीवत पंचोपचार पूजन करना बहुत आवश्यक माना जाता है। एक रुद्राक्ष की माला को गले में ज़रूर से धारण कर लें और माला से रोजाना बताए जा रहे मंत्र का जाप करें –

देवकी सुत गोविंद वासुदेव जगत्पते। देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:।।

• आपको जानकर हैरानी होगी कि 9 वर्ष से कम आयु की कन्याओं के चरण छुने से भी आपको शीघ्र ही संतान की प्राप्ति हो सकती है।

• बताते चलें कि संतान प्रप्ति के लिए दंपत्ति शिव भगवान का अभिषेक करने से भी भगवान शंकर बहुत प्रसन्न होकर संतान प्राप्ति का आशीष देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: