हनुमानजी के इन चमत्कारिक मंदिरों में मन की बात सुन लेते हैं भगवान, हर मुराद होती है पूरी

हनुमान जी का नाम सुनते ही सभी भक्तों के मन में भक्ति भावना जाग उठती है और इनके भक्तों के शरीर में एक अद्भुत शक्ति महसूस होने लगती है क्योंकि महाबली हनुमान जी एकमात्र ऐसे देवता हैं जो अपने भक्तों को कभी भी निराश नहीं करते हैं ऐसा कहा जाता है कि जो भक्त अपने सच्चे मन से इनका नाम लेता है तो इतने मात्र से ही उसकी सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं और उसको अपने जीवन में एक नई राह मिलती है इसी वजह से भक्तों की श्रद्धा महाबली हनुमान जी के प्रति बहुत ही अटूट है अगर आप भी महाबली हनुमान जी की आराधना करते हैं और उनको श्रद्धापूर्वक पूजते हैं तो आज हम आपको महाबली हनुमान जी के कुछ ऐसे चमत्कारिक मंदिरों के बारे में जानकारी देने वाले हैं जहां पर हनुमान जी अपने भक्तों की पुकार सुनते हैं और यहां कोई भी भक्त खाली हाथ वापस नहीं जाता है हर भक्त के दुख हनुमान जी दूर करते हैं और वह हंसी हंसी अपने घर जाता है।

आइए जानते हैं हनुमान जी के चमत्कारिक मंदिरों के बारे में

मनोकामना हनुमान मंदिर, दरभंगा

महाबली हनुमान जी का चमत्कारिक मंदिर बिहार के दरभंगा जिले में राज्य परिसर में स्थित है इस मंदिर को मनोकामना मंदिर भी कहा जाता है इस मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि जो भक्त यहां पर अपनी मनोकामना मांगता है वह जरूर पूरी होती है इसी वजह से इस मंदिर का नाम मनोकामना मंदिर पड़ा है इस मंदिर के अंदर हनुमान जी से अपनी मुरादे पूरी करवाने का तरीका ही बिल्कुल अनोखा है इस मंदिर में अपनी मनोकामना लिखकर मंदिर की परिक्रमा की जाती है और मन ही मन प्रार्थना किया जाता है अगर आप इस मंदिर की दीवार पर देखेंगे तो यहां पर भक्तों ने दीवार पर अपनी मनोकामना लिखी हुई है।

हनुमान मंदिर, लेटी प्रतिमा, प्रयाग

हनुमान जी का एक ऐसा मंदिर है जहां पर इनकी लेटी हुई प्रतिमा मौजूद है यह मंदिर प्रयाग में संगम तट पर मौजूद है पूरे भारत में एकमात्र यह ऐसा मंदिर है जहां पर हनुमान जी लेटी हुई अवस्था में नजर आते हैं ऐसा कहा जाता है कि जो भक्त हनुमान जी को लाल सिंदूर का लेप लगाता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है मान्यता अनुसार महाबली हनुमान जी लंका में युद्ध करते हुए काफी थक गए थे जिसकी वजह से वह लेट गए थे तब माता सीता ने थके हुए हनुमान जी को देखकर सिंदूर का लेप लगाया था जिसकी वजह से हनुमान जी के शरीर में नवजीवन का संचार हुआ था।

अखंड ज्योति बजरंगबली, उज्जैन

महाबली हनुमान जी के इस मंदिर के नाम के अनुसार ही इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां की ज्योति कभी बुझती नहीं है महाकाल की नगरी उज्जैन में स्थित अखंड ज्योति बजरंगबली का मंदिर है इस मंदिर में जो भी भक्त अपनी प्रार्थना लेकर आता है वह कभी भी खाली हाथ नहीं लौटता है अगर आप अपनी मनोकामना पूरी करना चाहते हैं तो इस मंदिर में बहुत ही आसानी से आपकी हर इच्छा पूरी हो जाएगी आप आटे का दीपक बनाकर एक दिया जलाकर हनुमान जी के पास रख दे हनुमान जी शनि की साढ़ेसाती से लेकर आपके सभी दुखों को दूर करेंगे।

पंचमुखी हनुमान, कानपुर

पंचमुखी हनुमान मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यहां पर हनुमान जी का लव कुश के साथ युद्ध हुआ था महाबली हनुमान जी को इस बात का ज्ञात हो गया था कि लव कुश भगवान श्री राम जी के पुत्र है तब वह जानबूझकर लव कुश से युद्ध में हार गए थे जब माता सीता ने महाबली हनुमान जी को बंधन में देखा तो उनको बंधन से मुक्त कराने के लिए लड्डुओं का भोग लगाया था ऐसा कहा जाता है कि तभी से यहां पर हनुमान जी को लड्डू का भोग लगाया जाता है इससे महाबली हनुमान जी अपने भक्तों पर प्रसन्न होते हैं और उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: