हनुमान जी के सच्चे भक्तों के लिए हैं बड़ी खुशखबरी, ऐसे मिलेगा आपको अपनी भक्ति का लाभ

दोस्तों वैसे तो हम सभी लगभग हर भगवान को मानते हैं, उनका मान सम्मान और आदर करते हैं. लेकिन इस बात में कोई शक नहीं कि हर किसी का अपना एक फेवरेट भगवान होता हैं जिसे वो कुछ ज्यादा ही चाहता हैं. कोई माता रानी का भक्त होता हैं, किसी को गणेश जी प्यारे लगते हैं तो कई शिवजी को अपना सबकुछ मानते हैं. वहीँ कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो हनुमान जी के कट्टर भक्त होते हैं. ये भक्त हर शनिवार और मंगलवार हनुमान मंदिर जाते हैं, हनुमान चालीसा का जप करते हैं और उनके नाम का व्रत भी रखते हैं. आज की हमारी ये पोस्ट ऐसे ही सच्चे हनुमान भक्तों के लिए हैं.

दरअसल आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं जिनका लाभ इन सच्चे हनुमान भक्तों को मिल सकता हैं. वैस इन उपायों को एक आम भक्त भी कर सकता हैं लेकिन जब एक कट्टर हनुमान भक्त ये उपाय करेगा तो हनुमान जी की उनपर विशेष कृपा बरसेगी. आपकी हर मनोकामना पूर्ण होगी और तकलीफे दूर हो जाएगी.

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं. हिन्दू धर्म में हनुमान जी के लिए शनिवार और मंगलवार के दिन अर्पित किए गए हैं. इसलिए आपको ये उपाय भी इसी दिन करने हैं.

उपाय #1: हर सच्चा भक्त हनुमान चालीसा का पाठ जरूर करता हैं. लेकिन क्या आप ने कभी इस पाठ करने के बाद हनुमान जी को प्रसाद चढ़ाया हैं? कई बार देखा जाता हैं कि भक्त जन हनुमान मंदिर में जल्दी जल्दी जाते हैं, दर्शन एवं ढोक दे कर हनुमान चालीसा पढ़ते हैं और फिर मंदिर से चले जाते हैं. लेकिन आपको बता दे कि यदि आप हनुमान चालीसा के पाठ के बाद भगवन के चरणों में प्रसाद अर्पित करेंगे तो आपको बहुत लाभ मिलेगा. यह जरूरी नहीं कि आप बहुत सारा या महंगा प्रसाद ही चढ़ाए. आप यदि चालीसा पाठ के बाद सिर्फ कुछ चिरोंजी और चने के दाने भी चढ़ा देंगे तो आपका काम हो जाएगा. यहाँ भगवान आपकी श्रृद्धा भक्ति के साथ यह भी देखते हैं कि आप बदले में अपनी और से क्या त्यागने को तैयार हो. ऐसे में जब आप कुछ पैसे खर्च कर प्रसाद चढ़ाते हो और दस लोगो में उसे बांटते हो तो हनुमान जी प्रसन्न होते हैं और आपका विशेष ख्याल रखते हैं.

उपाय #2: हमने कई बार देखा हैं कि हनुमान भक्त जब मंदिर में पूजा पाठ करते हैं तब तो बड़े शांत और सरीफ रहते हैं लेकिन मंदिर से बाहर निकलते ही वो गाली गलोच, हिंसा, नशा और अन्य गलत काम करने लगते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आप मंदिर में सिर्फ कुछ मिनटों के लिए हनुमान जी को देखते हो लेकिन वो आपकी भक्ति से प्रसन्न होकर दिनभर आप पर नज़र रखते हैं. ऐसे में यदि उन्हें आपका व्यवहार ठीक नहीं लगता हैं तो वे आप पर अपनी विशेष कृपा बरसाने से पहले दस बार सोचते हैं. इसलिए कोशिश करिए कि आपका व्यवहार शनिवार और मंगलवार को हनुमान पूजा करने के बाद दिनभर अच्छा रहे और आप किसी भी तरह की हिंसा, अपमान और नशा में लिप्त ना रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.