HomeUncategorized22 फरवरी है साल का सबसे खतरनाक दिन, शुरू हो रहा है...

22 फरवरी है साल का सबसे खतरनाक दिन, शुरू हो रहा है होलाष्टक ,चुपचाप यहाँ जलाये एक दीपक और फिर देखें चमत्कार

मित्रों इस बात को तो आप लोग जानते ही होगें कि इस वर्ष का सबसे प्‍यारा रंगो भरा पर्व होली बहुत नजदीक है, जिसका हम सब की बेसब्री से इंतजार रहता है, पर इसके साथ ही कुछ ऐसी चीजे भी है, जो आपके लिये जानना बहुत ही आवश्‍यक है। आपको बता दे कि होली के पहले यानी 22 फ़रवरी गुरुवार से ही होलाष्टक शुरू हो रहा है, जिसमें कोई भी शुभ कार्य वर्जित माने जाते है| ज्योतिषों के अनुसार बताया जा रहा है कि ये होलाष्टक 22 फ़रवरी से शुरू होगा और होली से एक दिन पहले यानी की 1 मार्च को पूरा होगा| ज्ञात रहे कि इस दौरान आप कोई भी शुभ काम ना करें| होलाष्टक का समय भक्ति की शक्ति का प्रभाव बताती है| माना जाता है कि इस दौरान केवल तप करना ही अच्छा माना जाता है|

ऐसी मान्यता है की हमारे भारत के कई हिस्सों में होलाष्टक शुरू होने पर एक पेड़ की शाखा काट कर उसमें रंग-बिरंगे कपड़ों के टुकड़े बांध देते हैं और उसे जमीन में गाड़ते हैं, अब सवाल उठता है कि आखिर हम होलाष्टक में शुभ काम क्यूँ नही करते हैं अब सवाल उठता है कि आखिर हम होलाष्टक में शुभ काम क्यूँ नही करते हैं तो इसका जवाब देते हुए हम आपको बता दें कि होली के 8 दिन पहले ही फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी से होलाष्टक लग जाता है जो पूर्णिमा तक जारी रहता है|

ऐसे में मान्यता के अनुसार इन 8 दिनों में कोई भी शुभ काम नहीं किया जाता है और इसलिए ही होलाष्टक शुरू होने पर किसी तरह के भी शुभ कामों नहीं करना चाहिए| ऐसा कहा जाता है की इस दौरान कोई भी शुभ काम जैसे की शादी, गृह प्रवेश आदि वर्जित होता है साथ ही इस साल जिन लड़कियों की शादी होती है उन्हें मायके वापस भी बुला लिया जाता है|

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दे की इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी है जिसके अनुसार फाल्गुन शुक्ल अष्टमी से नेचर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश हो जाता है| ऐसे में 22 फरवरी को इस साल का सबसे खतरनाक दिन बताया जा रहा है और इसलिए आज हम आपको एक छोटा सा टोटका बताने जा रहे हैं जिसे करने के महज 30 सेकंड के अन्दर-अंदर आपको चमत्कार दिखाई देगा |

इस टोटके के अनुसार आपको 22 फ़रवरी यानी की गुरुवार को चुपचाप एक दिया अपने घर के मंदिर, या ऐसा कोई भी स्थान जहाँ आप अपने ईष्टदेव को रखते हो वहां जला देना है और इसके बाद आपको दिल से उन भगवान को याद करना है जिनकी आप पूजा करते हैं यहाँ आपको ये बात याद रखना है कि इस दिए में आपको २ लौंग भी डालने हैं साथ ही आपको दिये में काला तिल भी होना चाहिए |

इसके बाद ही आपको मन में अपनी सारी परेशानी भगवान को बता देनी है और ध्यान रहे इस दौरान आपको एक मन्त्र भी पढना है| मन्त्र इस प्रकार है, “ॐ श्री धन्वन्तरये नमः”. इस मन्त्र का जाप आपको 11 बार करना है और फिर ये दिया आपको पूरे घर में दिखाना है