आप भी पीते है आरो का पानी तो एक बार यह खबर जरूर पढ़ लीजिये, कहीं बाद में पछताना ना पड़ जाए

हमेशा से ही आप सुनते आ रहे होंगे कि जल ही जीवन है, वैसे आपको बता दे कि यह वाक्य जिसने भी ईजाद किया है काफी ज्यादा महत्व रखता है हमारे जीवन में। जिस तरह बिना भोजन के हम नही रह सकते ठीक उसी तरह बिना पानी के भी जीवन संभव नही है। आपको यह बताने की जरूरत नहीं है की पानी सिर्फ प्यास बुझाने के ही नहीं बल्कि हमारी तमाम दैनिक जरूरतों के काम भी आता है और एक तरह से देखा जाये तो पानी हमारे जीवन का बहुत ही अभिन्न अंग भी है।

बताना चाहेंगे की सिर्फ पानी का होना ही काफी नहीं है यह उससे भी ज्यादा जरूरी है की वह पानी साफ़ कितना है। अक्सर आपने कई तरह के पनि देखे होंगे जो दिखते तो साफ है मगर जैसे ही गलें में जाता है आप उसे तुरंत ही बाहर फेंक देते है, वजह उसका स्वाद। कई बार पानी एकदम मटमैला आता है तो कई बार उसी पानी में कीड़े होते है जिनहे हम अपनी प्यास बुझाने के लिए पी तो लेते है मगर इस तरह के  पानी में कई तरह के नुकसान पहुंचाने वाले बैक्टीरिया और अशुद्धियां होती हैं जो आगे चल कर उलटी, दस्त, टाइफाइड जैसी तमाम तरह की बीमारियों को खुला न्योता देती है।

इसके साथ ही आपको यह भी जान लेना चाहिए की गंदे पानी से ना सिर्फ पीने से बल्कि नहाने से भी आपको परेशानी हो सकती है और आप चरम रोग के शिकार बन सकते है। यह बेहद जरूरी है की पानी में टी.डी.एस की मात्रा का बराबर और बहुत ही सावधानी से ध्यान रखा जाए। आपको बता दे की जो पानी हम सामान्य तौर पर पीते है उसमे कई तरह के खनिज पदार्थ जैसे मैग्नीशियम, कैल्शियम, सोडियम आदि घुले आते हैं। आपको भी इस बात की जानकारी होनी चाहिए की पीने के पानी में टी.डी.स की मात्रा कम से कम 500 मि.ग्राम प्रति लीटर होनी चाहिए, इससे ज्यादा नहीं होनी। बताया जाता है की 100-150 के स्तर का पानी पीने के लिए सबसे ज्यादा बेहतर बताया जाता है।

यदि आपने गौर किया होगा तो आपा भी देख रहे होंगे की पिछले कुछ वर्षों से बाजार में पानी को साफ़ करने लिए आरो मशीन आ गयी है जिसका दावा रहता है की यह गंदे से गंदे पानी को भी साफ कर देती है, मगर आपने कभी यह जानने की कोशिश की है की इस शुद्धिकरण में पानी में मौजूद जरूरी मिनरल्स जो की हमारे शरीर के लिए काफी जरूरी होते है वो भी नष्ट हो जाते हैं। हालांकि ऐसी स्थिति में आजकल ओआरपीएच तकनीक वाले आरओ विकसित किये गए हैं जिसके इस्तेमाल से पानी भी शुद्ध होता ही है साथ ही यह पानी की गुणवत्ता को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचता। खैर आप चाहे तो पानी को शुद्ध करने के लिए उसे कम से कम 15 मिनट पानी को उबाले और फिर छान कर पी सकते है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: