अगर आपके पास भी है 10 रुपए का नया नोट , तो यहाँ बेचिए 1500 रुपए के दाम में

आज के इस महंगाई के दौर में हर कोई पैसा कमाने की रेस में दौड़ता नजर आ रहा है. मगर अमीरी का शॉर्टकट मिल पाना बेहद कठिन है. जब से भारत में नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी की है, तभी से लेकर अभी तक बैंकों एवं एटीएम (ATM) में पैसा निकालने में लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. क्यूंकि अभी तक नगदी नोटों का यह सिस्टम पूरी तरह से ठीक नहीं हुआ है. लोग लंबी कतारों में खड़ा रहने के बावजूद भी नए नोट हासिल नहीं कर पा रहे. हालांकि, अब नए नोट खरीदने का डिजिटल विकल्प उपलब्ध है. परन्तु इन सब के बावजूद भी लोगों को नए नोट निकालने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि भारत हो या विदेश, यहाँ किसी भी नोट को उसकी कीमत से बढ़ कर बेचना पूर्ण रूप से अवैध है. लेकिन इसके बावजूद भी लोग इन दिनों पैसा कमाने की एक नई तकनीक निकाल चुके हैं और पुराने नोटों के साथ नए नोट भी अब ऑनलाइन इ कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से बेचे जा रहे हैं. ये नोट धड़ल्ले से अपनी कीमत से अधिक दामों में बेचे जा रहे हैं. आपको हम बता दें कि फिलहाल मार्किट में 1 रुपए, 10 रुपए, 20 रुपए , 50 रुपए एवं 200 रुपए के नए नोट आप आसानी से उनकी कीमत से दुगुनी कीमत पर बेच सकते हैं और पैसा कमा सकते हैं.

यहाँ बेचे जा रहे हैं यह नोट 

 

दरअसल, यह नोट कहीं और नहीं बल्कि जानी मानी वेबसाइट Ebay.in पर बेचे जा रहे हैं. यहाँ पर 10 रुपए के 100 नोट 1620 रुपए में बेचे जा रहे हैं जबकि, 200 रुपए के नए सो नोट 26 हजार रुपए में उपलब्ध हैं.

इतना ही नहीं बल्कि इस ई कॉमर्स वेबसाइट पर 1रुपए के दो नोट के बंडल कि कीमत 555 रूपए है. जबकि अगर आप इन्हें होम डिलीवरी पर मंगवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 50 से 100 के बीच का शिपिंग चार्ज अलग से देना पड़ेगा. गौरतलब है कि इस नोट की गारंटी के लिए वेबसाइट पर यह साफ तौर पर लिखा हुआ है कि यह सभी नोट आरबीआई के नए गवर्नर उर्जित आर पटेल के हस्ताक्षर वाले हैं.

सिफारिश से मिलते थे नोट

1रुपए के नोटों पर लिखा है कि यह पूर्व वित्त सचिव शक्तिकांत दास के हस्ताक्षर बने हैं जबकि 10 रुपए, 50 रुपए और 200 रुपए के नए नोट आम आदमी को अभी तक मुहैया नहीं करवाए गए. इससे पहले अगर किसी घर में शादी ब्याह जैसा कोई इवेंट या समारोह होता तो नए नोटों को प्राप्त करने के लिए लोगों को बैंक कर्मी दोस्तों से सिफारिश करनी पड़ती थी. परंतु लौट सीमित मात्रा में होने के कारण बैंक कर्मी उन्हें भेजने से कन्नी कतराते थे.

सिफारिशों के चलते पहले ही बैंकों में बुकिंग हो जाती है जिसके कारण यह नोट आम जनता को आसानी से नहीं मिल पाते थे. आपको हम बताते चलें कि अब 1 रुपए के नए नोट की मार्केट में सबसे अधिक मांग चल रही है. यह इधर डॉट इन पर 531 रुपए में बिक रहे हैं और इसकी होम डिलीवरी 2 से 3 दिनों में घर पर हो जाती है. वहीं ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर एसोसिएशन के अध्यक्ष SS सिसोदिया ने बताया कि यह रुपए लीगल टेंडर के हैं इसलिए इनकी खरीद फरोख्त पर किसी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं लगाई जा सकती

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: