अगर नहीं जानते हनुमान जी के बारे में यह बातें तो आप उनके सच्चे भक्त नही

हनुमान जी के बारे में कई बातें उनके परम भक्त भी नहीं जानते, हनुमान जी को क्या पसंद है क्या नहीं, किस तरह से उनकी पूजा करनी चाहिए, कब कौन से तरीके की पूजा करने पर कैसा फल मिलता है और कौन सी ऐसी गलतियां हैं जिनका हमेशा हमें ध्यान रखना चाहिए ताकि हनुमान जी आपसे कभी नाराज ना हों क्योंकि कोई नहीं चाहेगा कि उनके प्रिय भगवान् कभी उससे नाराज हों। आज हम कुछ ऐसी ही बातों के बारे में जानेंगे ताकि भविष्य में हमें अधूरी जानकारी के बल पर कोई शुभ कार्य न करना पड़े।

 

सिन्दूर का महत्व और राम जी से लगाव

आप सभी को यह तो पता है कि मंगलवार का दिन पवनपुत्र को समर्पित है। इस दिन जो पूरे मन से बजरंग बली की आराधना करते हैं उनकी रक्षा पवन पुत्र हनुमान सभी प्रकार के कष्टों से हमेशा करते हैं। वो अपने सच्चे भक्तों को कभी मुश्किलों में अकेला नहीं छोड़ते हैं। बहुत से भक्तों को इस बात की जानकारी नहीं है कि हनुमान जी ने एक बार भगवान् राम के लंबे जीवन के लिए अपने पूरे शरीर पर सिन्दूर लगा लिया था। जिसके बाद इससे खुश हो कर प्रभु राम ने कहा था कि जो कोई भी भक्त तुम्हारी पूजा में सिंदूर का इस्तेमाल करेगा उसे कभी कोई कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा।

 

मकरध्वज और उसका जन्म

वैसे तो हनुमान जी को ब्रह्मचारी कहा जाता है लेकिन बहुत कम भक्त जानते हैं कि उनका एक बेटा भी था जिसका नाम मकरध्वज था। कहा जाता है कि उनका पसीना एक मछली ने निगल लिया था जिसकी वजह से मकरध्वज का जन्म हुआ था। संस्कृत भाषा में हनुमान जी के कुल 108 नाम हैं जिनके बारे में उनके सभी भक्तों को नहीं पता है।

 

किसी भगवान के अगर आप भक्त हों तो उनसे जुड़ी जितनी ज्यादा से ज्यादा जानकारियां हों वह जुटा कर उनके बारे में और जानें। एक भक्त को अपने प्रिय देवता के लिए इतना तो करना ही चाहिए। साथ ही जब आप उनकी पूजा करना शुरु करें तो सही विधि और सामग्री का हमेशा ध्यान रखें ताकि आपसे अनजाने में कोई गलती ना हो।

Place this code at the end of your tag: