अगर तुरंत पैसा चाहिए तो जरुर करें चावल के ये तांत्रिक उपाय, फिर देखे कमाल

हिन्दू धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्व है और साथ भी साथ विधि-विधान भी खास महत्वपूर्ण समझे जाते हैं। आपके इष्ट देव कोई भी हों, अगर उनकी पूजा में कहीं भी कोताही बरती गई हो, विधि-विधान का ध्यान ना रखा गया हो तो उसका पूर्ण फल कभी प्राप्त नहीं होता।सनातन धर्म में 33 करोड़ देवी-देवताओं के अस्तित्व को स्वीकार किया गया है, सभी की अराधना करने का अलग तरीका भी है, पूजा में उपयोग होने वाली सामग्री भी अलग-अलग ही है। लेकिन कुछ ऐसी सामग्रियां भी हैं, जिन्हें अधिकांशत: वैदिक पूजा में उपयोग किया ही जाता है। ऐसी ही एक सामग्री है चावल जिसे अक्षत भी कहा जाता है।

कभी आपने सोचा है चावल को पूजा का अनिवार्य भाग क्यों माना जाता है? इसके अलावा जब तिलक किया जाता है तो उसमें भी अक्षत का प्रयोग क्यों किया जाता है? इसका जवाब हम आपको दिए देते हैं, चावल को अक्षत कहा जाता है, जिसका अर्थ है जो टूटा ना हो। दरअसल अक्षत यानि चावल, पूर्णत: का प्रतीक माना गया है, साथ ही साथ अपने सफेद रंग की वजह से इसे शांति से बेहे जोड़ा गया है। चावल को अन्न में सबसे श्रेष्ठ भी माना गया है, इसे ईश्वर को अर्पित करते समय हमारे मन में यह भावना बनी रहनी चाहिए कि हमें जो भी प्राप्त हुआ है वह सिर्फ ईश्वर की कृपा ही है।

ज्योतिष शास्त्र में गरीबी दूर करने के लिए कई कारगर उपाय बताए गए हैं. इन उपायों को अपनाने से सभी प्रकार की ग्रह बाधाएं दूर हो जाती हैं. यदि किसी वजह से धन प्राप्त करने में कोई समस्या आ रही हो तो इन उपायों से वे सभी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं. यदि आप भी किसी ग्रह बाधा से पीडि़त हैं और आपके पर्स में अधिक समय तक पैसा नहीं टिकता तो यह उपाय अवश्य करें. पूजन में अक्षत का उपयोग अनिवार्य है. किसी भी पूजन के समय गुलाल, हल्दी, अबीर और कुंकुम अर्पित करने के बाद अक्षत चढ़ाए जाते हैं. अक्षत न हो तो पूजा पूर्ण नहीं मानी जाती|शास्त्रों के अनुसार पूजन कर्म में चावल का काफी महत्व रहता है. देवी-देवता को तो इसे समर्पित किया जाता है साथ ही किसी व्यक्ति को जब तिलक लगाया जाता है तब भी अक्षत का उपयोग किया जाता है. अक्षत का उपयोग कर आप घर की दरिद्रता दूर कर सकते हैं. जानिये कैसे…

  • आज के समय में जीविका चलाने के लिए पैसों की अत्यधिक जरूरत होती है लेकिन कभी कभी हमारे ग्रह सही नहीं होते जिसके कारण हमे कोई अच्छी नौकरी नहीं मिल पाती ऐसे में अगर आप भी नौकरी की तलाश कर रहे हैं या वर्तमान ऑफिस में परेशान हैं तो मीठे चावल बनाकर कौवों को खिला दें|आपकी समस्या का जल्द ही समाधान हो जायेगा |
  • यदि आप आर्थिक तंगी से जूझ रहे है तो इससे निजात पाने के लिए आपको एक किलो चावल लेकर किसी शिवलिंग के पास एकांत में बैठकर  एक मुट्ठी चावल शिवलिंग पर अर्पित करना है और  बाकि  बचे हुए चावल को किसी जरुरतमन्द को दान कर देना है इस उपाय को आपको पूर्ण‍िमा के बाद आने वाले सोमवार  से शुरू करना है और लगातार 5 सोमवार तक करना है ऐसा करने से आपके घर में पैसा आना शुरू हो जाएगा.
  • कई बार पितृदोष के चलते हमें कई तरह की परेशानी झेलनी पड़ती है यदि आप इस समस्या से परेशान है तो इससे निजात पाने के लिए चावल की खीर तथा रोटी कौवों को  खिलाना है और ऐसा करने से आपको अपने पितरों का आशीष प्राप्त होगा और रुके हुए काम बनने लगेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.