HomeUncategorizedगरुड़ पुराण के अनुसार इन पाँच लोगों से हमेशा नाराज रहती हैं...

गरुड़ पुराण के अनुसार इन पाँच लोगों से हमेशा नाराज रहती हैं माँ लक्ष्मी, सहनी पड़ती है दरिद्रता

आज के इस आर्थिक युग में हर व्यक्ति चाहता है कि वह धनवान हो, लेकिन ऐसा हो नहीं पाता है। कुछ-कुछ लोग ही होते हैं, जिनके पास ख़ूब पैसा होता है। बाक़ी लोगों को धन के अभाव में जीवन गुज़ारना पड़ता है। धन के अभाव में व्यक्ति को जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर आप भी धन के अभाव में जीवन जी रहे हैं तो आपको धार्मिक ग्रंथों का सहारा लेना चाहिए। हिंदू धार्मिक ग्रंथों में दरिद्रता दूर करने और धन की देवी माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के कई उपाय बताए गए हैं। गरुड़ पुराण में भी इस बात का ज़िक्र मिलता है।

आपको बता दें भगवान विष्णु ने अपनी सवारी गरुड़ को एक कथा सुनाई थी, जो बाद में गरुड़ पुराण के नाम से जानी गयी। गरुड़ पुराण के एक श्लोक के अनुसार दाँत गंदे रखने वाले और कठोर वाणी का प्रयोग करने वाले लोग कभी भी धनवान नहीं बनते हैं। ऐसे लोगों से माता लक्ष्मी हमेशा नाराज़ रहती हैं। इसी वजह से इन्हें जीवनभर दरिद्रता का सामना करना पड़ता है। इस दुनिया में 5 तरह के लोग होते हैं, जिनके ऊपर माता लक्ष्मी की कृपा कभी नहीं होती है। आइए जानते हैं कौन वो 5 तरह के लोग हैं, जिन्हें माता लक्ष्मी के क्रोध का सामना करना पड़ता है।

श्लोक

कुचैलिनं दन्तमलोपधारिणं ब्रह्वाशिनं निष्ठुरवाक्यभाषिणम्।
सूर्योदये ह्यस्तमयेपि शायिनं विमुञ्चति श्रीरपि चक्रपाणिम्।।

अर्थ

मैले कपड़े पहनने वाले, दाँतों की सफ़ाई ना करने वाले, ज़रूरत से ज़्यादा भोजन ग्रहण करने वाले, कठोर वाणी का प्रयोग करने वाले और सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय सोने वाले लोगों चाहे वह स्वयं भगवान विष्णु ही क्यों ना हों, का माता लक्ष्मी त्याग कर देती हैं।

गंदे कपड़े पहनने वाले:

गरुड़ पुराण के अनुसार जो लोग गंदे कपड़े पहनते हैं, उन लोगों को माता लक्ष्मी पसंद नहीं करती हैं। इसी वजह से गंदे कपड़े पहनने वाले लोगों को दरिद्रता का सामना करना पड़ता है। गंदगी से रहने वाले लोगों से सभी लोग दूर रहना चाहते हैं, इसी वजह से इन्हें किसी भी काम को करने के लिए काफ़ी संघर्ष करना पड़ता है।

दाँतों को गंदा रखने वाले लोग:

दाँतों का सीधा सम्बंध व्यक्ति की सेहत से होता है। गंदे दाँतों की वजह से व्यक्ति को पेट सम्बंधी बीमारियों का सामना करना पड़ता है। केवल यही नहीं यह भी माना जाता है कि जिन लोगों के दाँत गंदे होते हैं वो लोग अपने काम के प्रति ईमानदार नहीं होते हैं। इसी वजह से ऐसे लोगों से माता लक्ष्मी नाराज़ रहती हैं।

ज़रूरत से ज़्यादा खाने वाले लोग:

कई लोग ऐसे भी होते हैं जो ज़रूरत से ज़्यादा खाते हैं, इस वजह से वे मोटे हो जाते हैं। मोटापा बढ़ने की वजह से वह कोई भी काम सही से नहीं कर पाते हैं। साथ ही कई बीमारियों से भी घिर जाते हैं। इसी वजह से ज़्यादा खाना खाने वाले लोगों से माता लक्ष्मी दूर ही रहती हैं।

कटु वाणी बोलने वाले:

जो लोग कटु वाणी और अपशब्दों का इस्तेमाल अपनी बोलचाल में करते हैं, ऐसे लोगों से भी माता लक्ष्मी दूर रहती हैं। इन लोगों के इसी स्वभाव की वजह से लोग इनसे जल्दी जुड़ते हैं, जिस वजह से इन्हें जीवन में आगे बढ़ने में काफ़ी परेशानी होती है।

सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सोने वाले:

शास्त्रों में कहा गया है कि सूर्योदय और सूर्यास्त का समय देवी-देवताओं की पूजा-आराधना का समय होता है। कई लोग इस समय में व्यायाम करते हैं। सूर्यास्त के समय हल्का-फुल्का व्यायाम करने से शरीर स्वस्थ्य रहता है। इसके साथ ही इस समय भगवान की पूजा करने वालों से भगवान बहुत प्रसन्न होते हैं। जो लोग इस समय को सोने में गँवा देते हैं, वो लोग आलसी होते हैं। आलस की वजह से वह जीवन में आगे बढ़ नहीं पाते हैं। इस वजह से माता लक्ष्मी इनसे दूर रहती हैं।