Home Uncategorized घर में हैं गणेश जी की मूर्ति तो इन बातों का ध्यान...

घर में हैं गणेश जी की मूर्ति तो इन बातों का ध्यान रखें, वरना हो जाएंगे कंगाल

हिंदू धर्म में किसी भी शुभ कार्य से पूर्व गणपति पूजा का विधान है, मान्यता है कि बिना भगवान गणेश की पूजा के बिना कोई भी कार्य पूरा नहीं होता, वहीं गणेश जी सभी देवताओं में प्रथम पूज्य माने गए है। ऐसे किसी भी शुभ कार्य या पूजा-अनुष्ठान से पहले श्रीगणेश का आवाहन किया जाता है। धार्मिक दृष्टि के साथ ही वास्तु शास्त्र में भी गणपति पूजा का विशेष महत्व है। वास्तु की माने तो घर के कई सारे दोष सिर्फ भगवान गणेश की पूजा करने से ही समाप्त हो जाते हैं। ऐसे में हिंदू धर्म को मानने वाले हर घर में गणपति की प्रतिमा देखने को मिल जाती है। वैसे तो भगवान गणेश की छवि या प्रतिमा हर रूप में शुभ फलदायी मानी जाती है, पर वहीं उनकी प्रतिमा की स्थापना और दर्शन के लिए शास्त्रों में कुछ विशेष नियम बताए गए हैं जिनका पालन करना भी बेहद जरूरी है, वरना शुभ परिणाम के बजाए आप नुकासान भी मिल सकते हैं।

जैसे कि भगवान गणेश की प्रतिमा के पीठ का दर्शन करना सही नहीं माना जाता है। दरअसल धार्मिक मान्यताओं की माने तो गणेश जी की पीठ पर दरिद्रता का निवास होता है। ऐसे में गणपति के पीठ के दर्शन से व्यक्ति पर दरिद्रता का प्रभाव बढ़ जाता है। यही वजह है कि धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गणेश जी की पीठ के दर्शन को अच्छा नहीं माना जाता । वहीं अगर कोई गलती से उनकी पीठ देख ले, तो इसके लिए भी शास्त्रों में निवारण बताया गया है, इसके लिए श्रीगणेश से क्षमा याचना कर उनका विधिवत पूजन करना चाहिए, इससे गणपति के पीठ के दर्शन से होने वाला अशुभ प्रभाव नष्ट हो जाता है।

वहीं भगवान गणेश की प्रतिमा को बेडरूम में स्थापित करना भी सही नहीं होता, दरअसल इससे वैवाहिक जीवन में कलह होता है और पति-पत्नी में अनावश्यक तनाव और विवाद की स्थितियां पैदा होती हैं। इसलिए बेडरूम में गणपति की प्रतिमा या तस्वीर लगाने से बचें।

वहीं वाशरूम या इसकी दीवारों पर भी गणेश जी तस्वीर नहीं लगानी चाहिए, ऐसा करना अशुभ माना जाता है और इसका बुरा प्रभाव आपको भुगतना पड़ सकता है। इसलिए ऐसा भूलकर भी ना करें

इसके साथ ही श्री गणेश की नृत्य करती हुई प्रतिमा या तस्वीर भी घर में स्थापित नहीं करनी चाहिए, क्योंकि गणेश जी की ऐसी मूर्ति घर में कलह का कारण बन सकती है। इसलिए घर में गणेश जी की नृत्य करती हुई मूर्ति स्थापित करने से भी बचें।

वहीं गणपति की तस्वीर ड्राइंग रूम में लगाने से इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, विशेष कर इससे सेहत पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसलिए गणपति की सफेद मूर्ति अथवा तस्वीर अपने घर के मंदिर या ड्राइंग रूम या दूसरे उचित स्थान पर लगाएं ।

वहीं अगर आप नया घर खरीद रहे हैं या अपने रहने का स्थान बदल रहे हैं तो नयी जगह, घर के मुख्य द्वार पर गणपति की मूर्ति स्थापित करें, इससे आपको गणेश जी की कृपा से आपके नए घर में सुख-समृद्धी बनी रहेगी।

इसके साथ ही जब भी घर में भगवान गणेश की कोई प्रतिमा लाए तो इस बात का ध्यान जरूर रखें कि उस प्रतिमा या छवि में उनकी सूंड बाईं तरफ घूमी हुई हो, दरअसल गणपति की ऐसी छवि से घर में खुशियां  और बरकत बनी रहती हैं।

वहीं इस बात का भी ध्यान रहे कि घर के लिए हमेशा बैठे हुए गणपति और ऑफिस में खड़े हुए गणेश जी की मूर्ति रखनी चाहिए, ये शुभफलदायी होता है, जिसके कारण घर में कभी धन की कमी नहीं होती ।