हनुमान से सीखें यह 4 बातें, दूर हो जाएंगी परेशानियां

भगवान हनुमान जी की पूजा कर भक्त अपनी हर मनोकामनाएं पूरी करवा लेते हैं, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि सिर्फ पूजा से ही नहीं बल्कि हनुमान जी से कुछ बातें सीख लेने पर भी हमारी परेशानियां दूर हो सकती हैं और सभी कामों में हमें सफलता भी मिल सकती है।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है भगवान हनुमान की ऐसी 4 खास बातों के बारे में जिनसे आप बहुत कुछ सीख सकते हैं – 

• संघर्ष क्षमता – 

अगर आपने रामायण पढ़ा है, तो आप यह बात भलीभांति जानते होंगे कि भगवान हनुमान जब सीता की खोज में समुद्र पार कर रहे थे, तब उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ा था। यही नहीं, सुरसा और सिंहिका नाम की राक्षसियों ने हनुमान जी को समुद्र पार करने से रोकना चाहा था, लेकिन बजरंग बली ने हिम्मत नहीं हारी और वह नहीं रुके और लंका पहुंच गए। हनुमान जी की इस बात से हमें यह सीखना चाहिए कि कदम-कदम पर हम सभी को ऐसे ही संघर्षों का सामना करना पड़ता है। संघर्षों से न डरते हुए अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने की सीख हनुमान जी से  ज़रूर लेनी चाहिए।

• चतुराई – 

भगवान हनुमान ने समुद्र पार करते समय सुरसा से लड़ने में अपना कीमती समय नहीं गंवाया था। बता दें कि सुरसा भगवान हनुमान को खाना चाहती थी। उस समय हनुमानजी ने अपनी चतुराई से पहले अपने शरीर का आकार अधिक बढ़ाया और फिर अचानक से छोटा रूप कर लिया। छोटा रूप करने के बाद हनुमान जी सुरसा के मुंह में प्रवेश करके वापस बाहर भी आ गए। हनुमानजी की इस चतुराई से सुरसा बहुत प्रसन्न हो गई और फिर उनका रास्ता छोड़ दिया। गौरतलब है कि चतुराई की यह कला हम सभी को भगवान हनुमान से सीख लेना चाहिए।

• संयमित जीवन –

बता दें कि भगवान हनुमान आजीवन ब्रह्मचारी रहे यानी कि उनका जीवन संयमित था। संयमपूर्वक रहने के कारण ही हनुमान जी बहुत ताकतवर थे। ध्यान रहे कि हमारे जीवन में खान-पान और रहन-सहन सब कुछ असंयमित हो रहा है। यही नहीं, असंयमित दिनचर्या के कारण गंभीर रोगों का डर भी लगा रहता है। भलाई इसी में है कि संयम के साथ कैसा रहना चाहिए, यह बात हम हनुमान जी से सीख सकते हैं।

• लोक-कल्याण – 

ऐसी मान्यता है कि भगवान हनुमान का अवतार ही श्रीराम के काम के लिए ही हुआ था। श्रीराम का काम यानी कि रावण का अंत करके तीनों लोकों को सुखी करना। हनुमान जी ने भगवान श्री राम का साथ दिया। हम सभी को भगवान हनुमान से यह प्रेरणा ज़रूर लेनी चाहिए कि जो लोग अच्छा और समाज सेवा का काम करते हैं, उनका साथ अवश्य दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.