हनुमान जयंती को इस योग में पूजा करने वालों का खुल जाएगा भाग्य, होंगे केवल फायदे ही फायदे

इस दिन पूजा करने के विशेष फायदे : पवन पुत्र हनुमान जी की पूजा वैसे तो हमेशा ही करते रहनी चाहिए क्योंकि उससे हमारे जीवन पर भगवान की कृपा सदैव बनी रहती है लेकिन अगर मौका हुनमान जयंती जैसे अत्यन्त ही शुभ दिवस का हो तो फिर बजरंग बली के भक्त इस मौके को कैसे जाने दे सकते हैं। इस दिन विधि-विधान से मन में श्रद्धा को भर कर जो भक्त हनुमान जी की पूजा-अर्चना करते हैं उन्हें बहुत ही शुभ फलों की प्राप्ति होती है तथा भगवान उनके कष्टों का निवारण जरूर करते हैं।
जैसा कि सभी भक्तों को इस बात की जानकारी है कि चैत मास के शुक्ल पक्ष के अवसर पर प्रभु का जन्म हुआ था और इसी दिन को हम हनुमान जयंती के रूप में मनाते हैं। इस बार हनुमान जयंती 16 अप्रैल यानि शनिवार के शुभ दिवस पर पड़ रहा है और सभी भक्त इस शुभ दिन के लिए अतिउत्सुक हैं तथा अभी से ही भगवान की पूजा की तैयारी में जुट गए हैं।
इन बातों का अवश्य रखें ध्यान : भक्तगण पूर्णिमा के इस शुभ दिवस पर बड़ी संख्या में उपवास भी रखते हैं और पूरे मन से बजरंग बली की आराधना करते हैं। ध्यान रखें कि पूजा करते वक़्त पीले या भगवे वस्त्रों का धारण अवश्य करें और तभी विधिवत आगे की पूजा-अर्चना करें, हनुमान चालीसा एवं सुंदर काण्ड का पाठ भी अवश्य करें और बाद में आरती करने के बाद अनजाने में हुई भूल-चूक के लिए बजरंग बली से क्षमा भी अवश्य मांगे।
भोग की अगर बात करें तो आप हनुमान जी को बूंदी के लड्डू तथा गुड़ का भोग भी लगा सकते हैं। आप भगवान को जिस भी चीज का भोग लगाएं उस प्रसाद को बाद में अन्य लोगों में भी अवश्य बाटें, इससे बजरंग बली की कृपा आप पर और ज्यादा बरसती है।
रवि योग के अनोखे फायदे : इस हनुमान जयंती को काफी लंबे समय के बाद रवि योग भी बन रहा है और यह सुबह 5:55 से 8:40 तक चलेगा, इस वक़्त यदि आप भगवान् की पूजा सच्चे हृदय से करते हैं तो आपको इसका विशेष फल अवश्य ही मिलेगा।
इस योग के दौरान पूजा करने से आपके अंदर की सारी बुराइयाँ एवं कमियां बजरंग बली दूर करते हैं तथा हर क्षेत्र में आपको सफलता दिलाने में आपकी मदद करते हैं।
Place this code at the end of your tag: