इन 5 चीज़ों के सेवन ने खत्म हो जाती है यादाश्त, कहीं आप भी तो नही खाते हैं लिमिट से ज्यादा

स्वस्थ शरीर मे ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है इस वजह से लोग खुद को स्वस्थ रखने के लिए कई तरह के व्यंजनों का सेवन करते है पर पूर्ण जानकारी न होने की वजह से कई बार लोगो को इस वजह से दिमाग की यादाश्त कम होने की संभावना बढ़ जाती है। जब आपका दिमाग सही रूप से काम नही कर रहा हो तो इस बात की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है कि आपको किसी भी निर्णय लेने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है इसके साथ ही काम पर ध्यान न दे पाने और सोचने समझने में भी दिक्कते आने लगती है। आज हम आपके सामने 5 ऐसी खाने चीज़ों  के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में जानने के बाद आप उसका आज के बाद इस्तेमाल करना बंद कर देंगे…

सोया फूड

कहने को सोया काफी पौष्टिक होता है और इसमें भरपूर मात्रा में अनेक तरह के पोषक तत्व पाए जाते है पर शायद ही लोगो को यह बात मालूम होगा कि सोया फ़ूड में सोडियम और नमक की मात्रा लिमिट से काफी ज्यादा होती है। इसके अत्यधिक मात्रा में सेवन करने की वजह से हाई ब्लड प्रेशर के साथ साथ मेमोरी लॉस जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यही वजह है कि इसका इस्तेमाल एक लिमिटेड मात्रा में ही किया जाना चाहिए।

ऑरेंज जूस

काफी मात्रा में लोगो के द्वारा सुबह के वक़्त इसे ब्रेकफास्ट के रूप में सेवन किया जाता है पर शायद ही लोगो को यह मालूम होगा कि इसका जरूरत से ज्यादा मात्रा में सेवन करने की वजह से उसमे मौजूद शुगर की मात्रा हमारे शरीर के अंदर प्रवेश करने के साथ ही शुगर की मात्रा को बढ़ा देती है। हर दिन इसका अत्यधिक मात्रा में सेवन करने की वजह से इसका सीधा असर हमारे दिमाग की रीजनिंग और आर्गेनाइज  की क्षमता के ऊपर पड़ती है। कई सारे केस में व्यक्ति की ये दोनों क्षमता ही खत्म हो जाती है। इसलिए अगर आप भी ब्रेकफास्ट के वक़्त इसका सेवन करते हो तो कृपया उचित मात्रा में ही करें।

सफेद चावल

कहने को चावल के अंदर कार्बोहायड्रेट की मात्रा काफी अधिक पाई जाती है पर इसके साइड इफ़ेक्ट के बारे में किस को मालूम नही होता है। सफेद चावल की बात करें तो इसके अंदर आपके ब्रेन की क्षमताको कम करने की भरपूर शक्ति मौजूद होती है साथ ही अगर आप इसका काफी ज्यादा मात्रा में सेवन करते है तो इसके चांस बढ़ जाते है कि आप कभी डिप्रेशन के शिकार हो जायें। इसलिए जितना संभव हो आके कम से कम मात्रा में ही इसका सेवन करने की कोशिशें करें।

शराब

शराब के अत्यधिक सेवन की वजह से होने वाली परेशानियों के बारे तो हर एक शख्स को भली भांति मालूम होता ही है। शराब का अत्यधिक सेवन ब्रेन के ऊपर प्रभाव डालता है साथ ही ब्रेन में मौजूद सेल्स को खत करने में यह अहम भूमिका निभाता है जिस वजह से कभी कभी हमारा खुद के ऊपर से कंट्रोल खत्म हो जाता है।

ट्यूना फिश

खाने में बेहद ही स्वादिष्ट लगने वाली इस मछली के सेवन करने की वजह से लोगो के अंदर किसी भी बात को भूलने की समस्या सामने आ जाती है। ट्यूना मछली के अंदर भरपूर मात्रा में प्रोटीन होने के साथ ही हाई लेवल में मर्क्युरी पाया जाट यही जिस वजह से इसका दिमाग के ऊपर बेहद बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए इस मछली को एक लिमिट में ही खाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: