कैलाश पर्वत दिखी भगवान शिव की इस आकृति से गूगल व नासा भी हैं हैरान, देखें तस्‍वीरें

आज हम आपको कैलाश पर्वत से जुड़ी कुछ ऐसी बात बताने वाले हैं जिसे सुनकर आपको यकीन नहीं होगा। जी हां वैसे तो आप कैलाश पर्वत के बारे में जानते ही होंगे ये भारत में स्थित एक ऐसी पर्वत श्रेणी है जहां से कई महत्वपूर्ण नदियां निकलतीं हैं- ब्रह्मपुत्र, सिन्धु, सतलुज इत्यादि। जहां जैन धर्म में इसे पवित्र माना गया है वहीं हिंदु धर्म में कैलाश मानसरोवर का मतलब भगवान का साक्षात दर्शन करना माना गया है। कैलाश मानसरोवर को ब्रह्मांड का केंद्र माना जाता है।

कहा जाता है कि पहाड़ों की चोटी वास्तव में सोने के बने कमल के फूल की पंखुड़ियां हैं जिन्हें भगवान विष्णु ने सृष्टि की संरचना में सबसे पहले बनाया था। इन पंखुड़ियों के शिखरों में से एक है कैलाश पर्वत। इस पर्वत पर भगवान शिव ध्यान की अवस्था में लीन हैं। उनके इस अध्यात्म से ही चारों तरफ वातावरण बेहद शुद्ध है और कहा जाता है कि अपनी किरणों से उन्होंने सृष्टि को संतुलित रखा हुआ है।

कहा जाता है कि कैलाश पर्वत पर साक्षात शिव और पार्वती निवास करते हैं। इस अद्भुत और अलौकिक नजारे को देखकर ही लोगों का शिव की मौजूदगी का मानो एहसास हो जाता है। सदियों से भक्त यहां अपने परमेश्वर की दर्शन करने के लिए आते हैं। जिंदगी में एक बार स्वर्ग में भगवान के दर्शन का एहसास यहीं मिलता है। इस तीर्थ को अस्टापद गणपर्वत और रजतगिरि भी कहते हैं। कैलाश के बर्फ से आच्छादित 6,638 मीटर (21,778 फुट) ऊँचे शिखर और उससे लगे मानसरोवर का यह तीर्थ है और इस प्रदेश को मानसखंड कहते हैं।

लेकिन आज कैलाश पर्वत की कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें भगवान शिव की आकृति साफ तौर पर देखी जा सकता है। जी हां ये तस्‍वीरें देख शिव भक्‍त काफी प्रसन्‍न हो गए हैं। हर साल शिवभक्‍त यहां भगवान के दर्शन करने पहुंचते हैं। इसके साथ सिख भी भगवान शिव और अन्य देवी-देवताओं में काफी विश्वास रखते हैं।

लेकिन वहीं जहां पहले शिवभक्‍त ही इस बात को मानते थें पर अब खबर मिली है कि भगवान शिव के इस दुनिया में होने वाली बात पर नासा वाले भी भरोसा करने लगे हैं। अगर आपने अभीतक मानसरोवर के दर्शन नहीं किया है तो चिंता की कोई बात नहीं है क्‍योंकि आज हम आपको घर बैठे ही भगवान शिव के दर्शन कराने जा रहे हैं।

दरअसल आज कैलाश पर्वत से कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आईं हैं जिसे देखने के बाद आप तो क्‍या वैज्ञानिक भी हैरान रह गए। जी हां जिन तस्‍वीरों की हम बात कर रहे हैं वो कैलाश पर्वत की हैं जिनमें भगवान शिव की आकृति साफ साफ झलक रही है। इन तस्वीरों को देखने में ऐसा लग रहा है जैसे साक्षात भगवान शिव इस पूरी दुनिया को दर्शन दे रहे हों। बर्फ की मोटी चादर में लिपटा हुए कैलाश पर्वत पर साफ तौर पर भगवान शिव को देखा जा सकता है।

इतना ही नहीं ये तस्‍वीरें सामने आते ही सोशल मीडिया पर पूरी तरह से छा गई है लोग भगवान शिव की आकृति को देखकर हैरान हैं। साथ ही अब गूगल और नासा ने भी भगवान के होने के साक्ष्‍य को मान लिया है। बता दें कि ये तस्वीरे गूगल अर्थ से लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.