कॉफ़ी पीने के हैं शौक़ीन तो एक बार इस खबर को जरूर पढ़ लें, यक़ीनन दोबारा कभी कॉफ़ी नहीं पीएंगे

वैसे तो हमारे देश में कॉफ़ी से ज्यादा चलन चाय का है लेकिन अब धीरे धीरे बाहर देशों की तरह इंडिया में भी कॉफ़ी पीने वालों की तादाद तेजी से बढ़ रही है। कॉफ़ी पीना लोग एक तरह का स्टेटस सिंबल भी मानने लगे हैं, लेकिन अधिक मात्रा में कॉफ़ी पीना आपको नुकसान भी पंहुचा सकता है। इसके अलावा आज हम आपको कॉफ़ी के बारे में एक ऐसा फैक्ट बताने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आप भी यकीनन कॉफ़ी पीना छोड़ देंगे। तो आईये जानते हैं की आखिर क्या है वो वजह जिसे जानने के बाद आप भी कॉफ़ी पीना छोड़ देंगे।

दुनिया भर में पी जाती है कॉफ़ी की अनेकों वेराइटी

आप भी अगर किसी कॉफ़ी शॉप पर जाए तो देखेंगे की वहां कॉफ़ी की काफी सारी वेराइटी आपको मेनू मिलेगी जैसे ब्लैक कॉफ़ी, एस्प्रेसो, कैपुचिनो, कोल्ड कॉफ़ी और भी ना जाने क्या क्या। कॉफ़ी की वेराइटी के अलावे कॉफ़ी बीन्स के भी बहुत सारे प्रकार होते हैं जो दुनिया भर में लोगों को काफी पसंद आती है और लोग इसे ज्यादा से ज्यादा दाम देकर खरीदते भी हैं।

नेसकैफे और ब्रू के अलावे भी दुनिया में कॉफ़ी की बहुत सारी अलग अलग वेरिएंट है जो बहुत ही ज्यादा महंगी मिलती है। आज हम आपको कॉफ़ी के एक ऐसे ही वैरायटी के बारे में बताने जा रहे हैं जो है तो दुनिया की सबसे महंगी बिकने वाली कॉफ़ी लेकिन अगर आप इसके बनने के प्रोसेस के बारे में जान लें तो हैरान रह जाएंगे।

कॉफ़ी लुवाक है दुनिया की सबसे ज्यादा बिकने वाली महंगी कॉफ़ी

जी हाँ कॉफ़ी लुवाक है दिनिया भर के देशों में कॉफ़ी के शौक़ीन लोगों की पहली पसंद। ये कॉफ़ी विशेष रूप से सिर्फ इंडोनेशिया में ही पायी जाती है और लोग इसे खरीदने के लिए लाखों खर्च करने को तैयार रहते हैं। अब बात करते हैं इस कॉफ़ी के बनने की तो आपको बता दें की ये कॉफ़ी दरअसल एक जानवर की पॉटी से निकलता है। जी हाँ बिलकुल सही सुना आपने दरअसल ये कॉफ़ी एक जंगली बेर से निकलता है जिसे रेड बीन्स कहता हैं। एशियाई सिवेट नाम का एक जानवर इंडोनेशिया के जंगल में पाया जाता है जो इस रेड बेर को खाता है और उसके बाद जब उसे पचा नहीं पाता तो उसे पॉटी क रूप में बाहर निकल देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: