कुछ ही घंटों में इन सहारों में पहुंचेगा भयानक तूफ़ान, सभी स्कूल और कॉलेज किए गए हैं बंद

इन दिनों भारत में तेज़ तरार गर्मी के बाद आंधी और बारिश से राहत मिल रही है. लेकिन बीते कुछ दिनों से आंधी और तेज़ हवाएं रुकने का नाम नहीं ले रही. जिसके चलते मौसम विभाग ने आने वाले कुछ घंटों को देखते हुए खतरे की आशंका जताई है. लगातार बिगड़ रहे मौसम को देखते हुए भारतीय सरकार ने पूरे उत्तर भारत में अलर्ट जारी कर दिया है. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि देश के कुल 13 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों में अलर्ट जारी किया जा चुका है. मौसम विभाग द्वारा यह अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले कुछ घंटों में कुदरत इंसान पर अपना कहर बरसाने वाली है. ऐसे में हम सबको सुचेत रहने की आवश्यकता है.

गृह मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक अगले कुछ घंटों में  जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कई स्थानों में आंधी-तूफान और ओलावृष्टि के साथ बारिश हो सकती है. वहीँ दूसरी ओर असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कईं शहरों में तेज़  के साथ आंधी आने की संभावना है. मौसम विभाग की माने तो अगले चाँद घंटों में जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में कादी तेज़ बारिश हो सकती है साथ ही तेज़ हवायों के चलते इन जगहों पर खतरा बना रह सकता है.

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि बीती 2 मई को उत्तर प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा आदि राज्यों में कुदरत अपनी कहराई का असर ढाह चुकी है. इस कुदरती आपदा के चलते  अभी तक कईं लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं और बहुत से लोग अभी भी लापता हैं. ख़बरों द्वारा बताए गए आंकड़ों की माने तो अभी तक कुदरत का यह कहर 130 लोगों की जान ले चुका है. मई की शुरुआत का यह माहोल अच्छे खासे लोगों के दिल में डर बन कर बैठ चुका है. छोटे बच्चों को कुदरत की इस तबाही का मंजर ना भुगतना पड़े, इसके लिए हरियाणा सरकार ने इस मौसम के बदलते मिजाज को देखते हुए शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने अगले 7 और 8 मई को राज्य के सभी निजी और सरकारी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं.

मौसम विभाग के अनुसार आने वाले कुछ समय में उत्तर भारत उत्तर, पूरब और दक्षिण भारत के 13 राज्यों के लोगों को सतर्कता बरतने की खासी आवश्यकता है. ऐसा बताया जा रहा है कि इन 13 राज्यों में भारी बारिश के साथ साथ तेज तूफान का खतरा बना रहेगा और साथ ही ओलावृष्टि से खेतों में लगी फसल तबाही ला सकती है. वेदर फोरकास्ट विभाग ने जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कई जिलों में 8 मई तक की चेतावनी और अलर्ट जारी कर दिया है. इस खतरे में दिल वालों की दिल्ली भी शामिल है. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि आने वाली 8 मई को 50 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज रफ्तार से दिल्ली-एनसीआर में आंधी के साथ साथ बारिश होगी.

आपको बता दें उत्तर पूरब राजस्थान पूरे मध्यप्रदेश और दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर साइक्लोनिक सरकुलेशन मजबूती बना चुका है. ऐसे में उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में अगले 24 से 48 घंटों तक मौसम बिगड़ सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.