कुंडली में राहु की स्थिति खराब होने पर मिलते हैं यह संकेत, जानिए इससे बचने के उपाय

मनुष्य के जीवन पर ग्रहों का बहुत प्रभाव पड़ता है, अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों की स्थिति ठीक ना हो तो इसकी वजह से व्यक्ति के जीवन में बहुत सी परेशानियां उत्पन्न होने लगती है, व्यक्ति को हर कदम पर किसी ना किसी कठिनाई का सामना करना पड़ता है, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु ग्रह सबसे पापी ग्रह माना गया है, राहु ग्रह को छाया ग्रह भी माना जाता है, राहु की महादशा शनि ग्रह की अपेक्षा बहुत अधिक हानिकारक मानी जाती है, इसकी स्थिति किसी व्यक्ति की कुंडली में ठीक ना हो तो इसकी वजह से मनुष्य की बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है।

ज्योतिष के जानकारों के अनुसार हर व्यक्ति के जीवन में एक बार राहु की महादशा और अंतर्दशा अवश्य पड़ती है, अगर राहु की महादशा किसी व्यक्ति की कुंडली पर है तो इसको किन लक्षणों के द्वारा पहचाना जा सकता है और राहु के बुरे प्रभाव से कैसे बचा जा सकता है, आज हम आपको इसी विषय में जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं कुंडली में राहु खराब होने के लक्षण

  1. अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु की महादशा चल रही है तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति मदिरा का सेवन अधिक मात्रा में करने लगता है।
  2. राहु की महादशा की वजह से व्यक्ति किसी पराई स्त्री के चक्कर में आ जाता है या फिर अपनी पत्नी के अतिरिक्त किसी अन्य शादीशुदा महिला से संबंध बनाने लगता है।
  3. राहु का बुरा प्रभाव होने पर व्यक्ति का मन धर्म-कर्म में नहीं रहता है, व्यक्ति धर्म में विश्वास नहीं रखता है, इसके अलावा वह अपने गुरु का भी अपमान कर सकता है।
  4. राहु की महादशा होने की वजह से व्यक्ति अक्सर झूठ का सहारा लेने लगता है और उसकी वाणी में कटुता आ जाती है और वह लोगों को धोखा देने लगता है।
  5. किसी भी प्रकार की वाहन दुर्घटना, पुलिस केस या फिर पत्नी से झगड़ा होना कुंडली में राहु खराब होने के संकेत माने गए हैं।
  6. लगातार आर्थिक नुकसान होना राहु का बुरा प्रभाव होता है इसके अलावा मानसिक तनाव भी बढ़ता है।
  7. कुंडली में राहु की स्थिति खराब होने की वजह से गैस की बीमारी, पेट की बीमारी, बाल झड़ना, मानसिक तनाव, सिरदर्द, पागलपन जैसी बीमारियां उत्पन्न होने लगती है।

कुंडली में राहु की बुरी स्थिति को दूर करने के उपाय

  • अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु की खराब स्थिति है तो ऐसे में उस व्यक्ति को रोजाना नियमित रूप से “ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहुवे नमः” मंत्र का जाप करना चाहिए।
  • राहु के बुरे प्रभाव से छुटकारा पाने के लिए भैरव के मंदिर में रविवार के दिन तेल का दीपक जलाएं और इनको भोग लगाएं।
  • राहु के बुरे प्रभाव से मुक्ति पाने के लिए बजरंग बाण और हनुमान चालीसा का पाठ रोजाना नियमित रूप से कीजिए।
  • दूध और चावल का दान करने से भी कुंडली में राहु की खराब स्थिति दूर होती है।
  • आप काले कुत्ते को रोटी खाने के लिए दीजिए।
  • आप रात के समय सोते वक्त अपने सिरहाने जौ रखे और सुबह होने के पश्चात आप इस जौ को पक्षियों को डाल दीजिए।
  • आप शनिवार और मंगलवार के दिन चीटियों को मीठा खिलाएं, इसके अलावा शनिवार के दिन अपना प्रयोग किया गया कंबल किसी निर्धन व्यक्ति को दान दीजिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Place this code at the end of your tag: