HomeUncategorizedमंगल ग्रह का मिथुन राशि में गोचर, किन राशियों के जीवन में...

मंगल ग्रह का मिथुन राशि में गोचर, किन राशियों के जीवन में आएंगीं खुशियां, किनको होगा कष्ट,जानिए

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों की स्थिति में निरंतर बदलाव होते रहते हैं, जिसके कारण सभी 12 राशियां प्रभावित होती है, इसी वजह से व्यक्ति के जीवन में राशियों का बहुत महत्व माना गया है, आपको बता दें कि 07 मई 2019 मंगलवार के दिन ग्रहों के सेनापति कहे जाने वाले मंगल ग्रह ने अपनी राशि में परिवर्तन कर लिया है, इन्होंने वृषभ राशि से मिथुन राशि में प्रवेश किया है, और यह 22 जून 2019 तक मिथुन राशि में ही रहने वाले हैं, मंगल के इस परिवर्तन की वजह से सभी 12 राशियों पर इसका कुछ न कुछ अवश्य प्रभाव पड़ेगा, आखिर यह परिवर्तन किन राशियों के व्यक्तियों के लिए खुशियां लेकर आया है और किन राशियों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता ,है आज हम आपको आपकी राशि अनुसार इस परिवर्तन के प्रभाव के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं मंगल ग्रह के परिवर्तन से किन राशियों को मिलेंगी खुशियां

कर्क राशि वाले व्यक्तियों की कुंडली में मंगल ने द्वादश भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से इनको शुभ फल की प्राप्ति हो सकती है, इस राशि वाले लोगों को वाहन सुख मिल सकता है, घर परिवार में खुशियां बनी रहेंगी, कानूनी वाद-विवाद दूर होंगे, आपका मन कामकाज में लगेगा, मित्रों के सहयोग से अच्छा लाभ मिल सकता है, जो लोग व्यापारी हैं उनको अपने व्यापार में भारी मुनाफा प्राप्त होगा, यदि आप कहीं निवेश करते हैं तो वह आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

सिंह राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल ने एकादश भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से आपकी आमदनी में वृद्धि होगी, किसी भी प्रकार के वाद-विवाद में आपको सफलता मिलने के योग बन रहे हैं, नौकरी के क्षेत्र में चल रही परेशानियां दूर हो सकती है, आपके द्वारा की गई मेहनत का अच्छा परिणाम हासिल होगा, साथ काम करने वाले लोगों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा, घर परिवार में खुशियों का आगमन हो सकता है, जीवन साथी आपकी भावनाओं को समझेगा, आप किसी मनोरंजक यात्रा पर जा सकते हैं, धन में वृद्धि होने के योग बन रहे हैं।

तुला राशि वाले व्यक्तियों की कुंडली में मंगल ने नवम भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से इस राशि वाले लोगों को भाग्य का पूरा साथ प्राप्त होने वाला है, आप कोई जोखिम भरा कार्य अपने हाथ में लेने का साहस कर सकते हैं जो आपके लिए फायदेमंद साबित होगा, आप किसी यात्रा पर जा सकते हैं, यात्रा के दौरान प्रतिष्ठित लोगों से मुलाकात हो सकती है, आपके द्वारा बनाई गई भविष्य की योजनाएं सफल होंगी, निजी जीवन खुशहाली पूर्वक व्यतीत होगा।

आइए जानते हैं किन राशियों को होगी परेशानी

मेष राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल ने तीसरे भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से इनका भाइयों के साथ वाद विवाद होने की संभावना बन रही है, इस राशि वाले लोगों को संपत्ति के मामलों में सावधान रहने की जरूरत है, आपको कार्य क्षेत्र में अधिक मेहनत करनी पड़ेगी परंतु इतनी मेहनत करने के बावजूद भी आपको उसके अनुसार फल की प्राप्ति नहीं होगी, आपकी आय सामान्य रहेगी।

वृषभ राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल ने दूसरे भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से इनको कानूनी वाद-विवाद का सामना करना पड़ सकता है, आपके जीवन में बहुत सी परेशानियां उत्पन्न होगी, आपको इस समय के दौरान अपने ऊपर धैर्य बनाए रखना होगा, आप अपने कामकाज में किसी भी प्रकार की जल्दी बाजी मत कीजिए अन्यथा आपको भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है, कार्यस्थल का वातावरण नकारात्मक रहेगा, कामकाज के दबाव की वजह से शारीरिक हानि हो सकती है।

मिथुन राशि वाले व्यक्तियों को मंगल के इस परिवर्तन की वजह से आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, आप इस समय के दौरान किसी से पैसा उधार ले सकते हैं, मानसिक तनाव अधिक रहेगा, पिता के साथ वाद विवाद होने की संभावना बन रही है, घरेलू जीवन में तनावपूर्ण स्थिति उत्पन्न हो सकती है, आपको घरेलू मामलों में समझदारी से काम लेना होगा, आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर रहेगी, जीवनसाथी का सहयोग मिल सकता है, बच्चों की तरफ से परेशानियां उत्पन्न हो सकती है।

कन्या राशि वाले व्यक्तियों की कुंडली में मंगल दशम भाव में गोचर किया है, जिसके कारण मानसिक तनाव में वृद्धि होगी, कार्य क्षेत्र में कामकाज का दबाव अधिक रहेगा, आपकी आमदनी में कमी आ सकती है, आपको अपनी फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखना होगा अन्यथा आपको पैसा उधार लेना पड़ सकता है, किसी भी प्रकार के वाद-विवाद से दूर रहे, आप इधर उधर के कार्यों में अपना समय व्यर्थ मत कीजिए, शारीरिक स्वास्थ्य कमजोर रहेगा।

वृश्चिक राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल ने अष्टम भाव में गोचर किया है, जो इनके लिए अशुभ रहने वाला है, इस समय के दौरान आपको सबसे ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है, आप किसी दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं, वाहन के इस्तेमाल में सावधान रहना होगा, इस राशि वाले लोगों को धन हानि होने के योग बन रहे हैं, इस समय के दौरान आप किसी भी यात्रा पर जाने से बचे, अगर यात्रा करना जरूरी है तो आप यात्रा के दौरान सतर्क रहें।

धनु राशि वाले व्यक्तियों की कुंडली में मंगल ने सप्तम भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से आपको जीवनसाथी से कष्ट मिलने के योग बन रहे हैं, जो लोग प्रेम प्रसंग में है उनके प्रेम संबंधित मामलों में परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं, इस समय के दौरान आपको काफी सावधान रहने की जरूरत है, कठिन परिस्थिति में आप धैर्य से काम लीजिए, कामकाज में बाधाएं उत्पन्न हो सकती है, वरिष्ठ अधिकारियों का व्यवहार नकारात्मक रहेगा, भाई बहनों के साथ मतभेद होने के योग बन रहे हैं।

मकर राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल षष्ठम भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से आपको शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, किसी पुरानी बीमारी की वजह से आप अधिक परेशान रहेंगे, आपके शत्रु सक्रिय रहेंगे और ये आपको हानि पहुंचाने का पूरा प्रयास कर सकते हैं, धन के लेन-देन में आपको सावधान रहना होगा अन्यथा आपको नुकसान झेलना पड़ सकता है, ससुराल पक्ष से परेशानियां मिलने के योग बन रहे हैं, आप अपने ऊपर कंट्रोल रखें।

कुंभ राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल ने पंचम भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से जो लोग नौकरी पेशा वाले हैं उनको अपने नौकरी के क्षेत्र में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, आपकी आमदनी में कमी होगी, संतान के स्वास्थ्य की चिंता लगी रहेगी, जीवन साथी के साथ मतभेद होने के योग बन रहे हैं, आपकी आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी, धन खर्च करते समय आपको सोच विचार करना होगा, मित्रों का सहयोग मिल सकता है।

मीन राशि वाले लोगों की कुंडली में मंगल ने चतुर्थ भाव में गोचर किया है, जिसकी वजह से माता-पिता के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है, सुख सुविधाओं में कमी आयेगी, किसी के साथ वाद विवाद होने की संभावना बन रही है, मानसिक चिंता बढ़ सकती है, आप किसी भी प्रकार का महत्वपूर्ण निर्णय लेने से बचें, कार्य क्षेत्र की परिस्थितियां सामान्य रहेगी, आप अपने कामकाज में पूरा ध्यान केंद्रित करेंगे, साथ काम करने वाले लोग आपके कामकाज को नोटिस कर सकते हैं, आपको अपनी योजनाओं पर गौर करने की आवश्यकता है।