नींद के बारे में इन बातों को जानकर आपके होश उड़ जाएंगे, कहीं आपके साथ भी तो यह नहीं हो रहा

इंसान अपने जीवन का लगभग एक तिहाई हिस्सा सोने में गुजार देता है। कुछ लोगों का काम हालांकि कम सो कर भी चल जाता है परंतु अगर आप डॉक्टरों की और हमारे पूर्वजों की बात माने तो हर इंसान को कम से कम 7 से 8 घंटों की नींद तो अवश्य ही लेनी चाहिए।

इंसान इकलौता जीव है जो जानबूझ कर नहीं सोता :
सबसे अजीब और नींद से जुड़ी पहली बात यह है कि हम इंसान इकलौते जीव हैं इस पूरे जगत में जो जान बूझ कर सोने में देरी करता है। ऐसा कई बार आपके भी साथ हुआ होगा जब आपका सोने का समय हो चुका हो लेकिन आप किसी काम या किन्ही अन्य कारणों की वजह से समय पर नहीं सो पा रहे हों। ऐसा खुद के साथ सिर्फ इंसान ही करते हैं, बाक़ी जीव आपको ऐसा करते कभी नहीं दिखेंगे।

कहीं आप भी डिसेनिया के शिकार तो नहीं :
बहुत से लोग सुबह अपने बिस्तर को समय पर नहीं छोड़ पाते हैं, इस स्तिथि को डिसेनिया कहा जाता है और यह सही से भोजन करने, तनाव, डिप्रेशन या अन्य कारणों की वजह से होता है और इसका उपाय जल्द से जल्द कर लेना ही बेहतर है।

पुराने समय में लोग दो हिस्सों में सोया करते थे, मतलब अगर अभी कोई इंसान 8 घंटे सो रहा है तो उस वक़्त मामला कुछ और था, लोग 4 घंटे सोते थे, फिर उठकर कोई काम जैसे पढाई या घर का कोई और काम करते थे और फिर 4 घंटों के लिए सो जाते थे।

जापान का अनोखा नियम :
जापान में अगर कोई कर्मचारी काम करते वक़्त सो जाता है तो उसे मेहनती आदमी के रूप में देखा जाता है क्योंकि उनके अनुसार जो आदमी खूब मेहनत कर रहा वही काम के दौरान थकावट की वजह से सो सकता है, वहीं अगर भारत में आप ऐसा कर दें तो आपको कामचोर कहा जा सकता है।

ब्लैक एंड वाइट सपना :
दुनिया में 12 प्रतिशत लोग ऐसे होते हैं जो सपना तो देखते हैं लेकिन उनका सपना उन्हें ब्लैक एंड व्हाइट में दिखता है और बाकि लोगों को रंगीन।
इसके अलावा जिराफ़ एक ऐसा जीव है जिसके लिए 2 घंटे सोना पूरे दिन के लिए काफी होता है।

Place this code at the end of your tag: