पाना चाहते हैं दोगुना फल तो इस जगह कीजिए हनुमान चालीसा का पाठ

नमस्कार दोस्तों आप सभी लोगों का हमारे लेख में स्वागत है दोस्तों आपको बता दें कि हर मुश्किलों को हनुमान जी की उपासना से दूर किया जा सकता है ऐसा माना जाता है कि आज के समय में हनुमान जी ऐसे एकमात्र देवता है जो अपने भक्तों से बहुत ही जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं जो भी भक्त हनुमान जी की शरण में आता है वह कभी भी खाली हाथ नहीं जाता है कई ग्रह दोषों के निवारण हेतु भी हनुमान जी की उपासना करने का विधान है यदि आपकी कुंडली में अशुभ ग्रहों के प्रभाव है तो हनुमान जी की कृपा से दूर हो सकते हैं हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए हनुमान चालीसा बजरंग बाण और सुंदरकांड आदि का पाठ किया जाता है इनमें से किसी भी एक का पाठ किया जाए तो शनि राहु और मंगल जैसे पापी ग्रहों के दुष्प्रभाव से छुटकारा प्राप्त होता है।

हिंदू धर्म के अंदर प्रकृति और ईश्वर के बीच एक पवित्र रिश्ता बताया गया है ऐसे बहुत से पेड़ पौधे हैं जो देवी देवताओं को बहुत ही प्रिय है या फिर जिनमें देवी देवताओं का वास होता है इसके अतिरिक्त कई पौराणिक कथाओं में भी पेड़-पौधों का जिक्र देखा जा सकता है पेड़ पौधों में स्वयं ईश्वर होते हैं आज हम आपको इस लेख के माध्यम से हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने के लिए किन उपायों को करना चाहिए इसके विषय में जानकारी देने जा रहे हैं।

यदि आप महाबली हनुमान जी की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं और इनको प्रसन्न करना चाहते हैं तो आप पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ कीजिए यदि आप ऐसा करेंगे तो हनुमान जी बहुत ही शीघ्र प्रसन्न होंगे और आपके सभी दुख दूर कर देंगे ऐसा माना जाता है कि पीपल के पेड़ में सभी देवी देवताओं सहित ब्रह्माजी और विष्णु जी का वास होता है यह पेड़ शनिदेव और माता लक्ष्मी जी को भी बहुत प्रिय है अगर आप इसकी छाया में बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो आपको इसके 2 फायदे प्राप्त होते हैं पहला फायदा इससे शनि देव प्रसन्न होते हैं और दूसरा फायदा यह है कि आपको हनुमान जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि रविवार का दिन छोड़कर आप रोज पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते हैं यदि आप ऐसा करते हैं तो पितरों को भी शांति प्राप्त होती है और उनका आशीर्वाद भी मिलता है।

यदि आपके जीवन में परेशानियां चल रही हैं या फिर आप किसी बुरी स्थिति से गुजर रहे हैं तो आप पीपल के पेड़ के नीचे एक शिवलिंग की स्थापना कीजिए इस शिवलिंग पर रोज जल अर्पित कीजिए और इसकी पूजा कीजिए आपके सभी कष्ट दूर होंगे।
आपको बता दें कि रविवार के दिन पीपल के पेड़ की पूजा नहीं की जानी चाहिए क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस दिन पीपल के पेड़ की पूजा करने से घर में निर्धनता और दरिद्रता का वास होता है जो भी व्यक्ति इस दिन पीपल के पेड़ पर जल अर्पित करता है उसकी पूजा करता है तो उससे धन की देवी माता लक्ष्मी जी रुष्ट हो जाती हैं और उसके घर में निर्धनता आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.