रोज़ एक बार जपिये लक्ष्मीजी के18 पुत्रो के नाम ,और देखे चमत्कार हो जायेंगे मालामाल

हम सब के जीवन में पैसो की जरूरत तो सभी को होती है और ये हमारी हर आवश्यकता को पूरा करता है और हम सब धन कमाने के किये बहुत परिश्रम करते है और दिन रात एक करके पिआसे कमाते है लेकिन अगर आपको अचानक पैसे रुपए की ज़रुरत पड़ जाए तो आप क्या करेंगे? नहीं समझ आया तो हम बताते हैं। दीपावली पर लक्ष्मीजी की पूजा गणेश जी के साथ की जाती है। लेकिन अगर अचानक रूपये पैसे की तंगी हो जाये तो लक्ष्मी माता को नहीं, बल्कि उनके पुत्रों को पुकारिये।

जब लक्ष्मी जी के पुत्रों का नाम लेंगे, तो मां दौड़ी चली आयेंगी। ये ममता ही तो है, जो मां को बच्चों से जोड़ती है। गणेश जी लक्ष्मी जी के मानस पुत्र हैं। वैसे तो लक्ष्मी जी चंचला हैं, एक स्थान पर नहीं टिकतीं। लेकिन दो स्थानों पर लक्ष्मी जी सदा निवास करती हैं। पहला वह स्थान जहां विष्णु जी का अभिषेक दक्षिणावर्ती शंख से किया जाये। दूसरा वह स्थान, जहां गणपति की आराधना की जाये। तीसरा उपाय है लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों का नाम जपना।

वैसे ये तो हम सभी जानते है की तो लक्ष्मी जी वहां सदा निवास करती हैं, जहां गणपति पूजे जाते हैं, लेकिन अचानक रुपये चाहिये तो एक नहीं, बल्कि लक्ष्मी जी के अनेक पुत्रों के नाम लेना होगा और मां लक्ष्‍मी धन-संपत्ति की देवी हैं जो जीवन में सुख-सौभाग्‍य को बनाएं रखती हैं। लक्ष्‍मी को भगवान विष्‍णु की अर्धंगिनी के रूप में पूजा जाता है। इन दोनों के 18 पुत्रों का विभिन्‍न ग्रंथों में उल्‍लेख देकहने को मिलता है

हमारे शास्त्रों  में ऐसी मान्‍यता है कि अगर अगर पैसों की परेशानी हो और अगर अचानक से आपको घाटा हो जाए या फिर जॉब चली जाए या फिर बीमारी के चलते बैंक बैलेंस खत्‍म हो जाए तो मां लक्ष्‍मी के इन 18 पुत्रों का नाम लेने से तुरंत धन लाभ होता है। शुक्रवार को देवी की पूजा में इनके नाम के जाप से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्‍त होती है और समस्‍याओं से छुटकारा मिलता है। आज हम आप को इनके 18 पुत्रो के नमो के बारे में बताने जा रहे है जो की इस प्रकार है|

लेकिन आकस्मिक धन पाने के लिये आपको लक्ष्मी जी के 18 वर्ग पुत्रों के नाम लेने होंगे। इसके बाद धन की व्यवस्था स्वयं लक्ष्मी जी आकर करती हैं।अगर अचानक कारोबार में घाटा हो जाये, शेयर बाज़ार में पैसे डूब जायें, अच्छी भली नौकरी चली जाये या फिर कोई प्राकृतिक आपदा आ जाये, ऐसे में धन की आवश्यकता सबको पड़ सकती है। बस ऐसी ही परिस्थिति में, लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों का नाम, शुक्रवार से जपना शुरू कर दें।

तो चलिए जानें मां लक्ष्‍मी के इन 18 पुत्रों के क्‍या नाम हैं।

ॐ देवसखाय नम: ,ॐ चिक्लीताय नम: ,ॐ आनन्दाय नम: न,ॐ कर्दमाय नम: , ॐ श्रीप्रदाय नम: ,ॐ जातवेदाय नम: ,ॐ अनुरागाय नम: , ॐ सम्वादाय नम: , ॐ विजयाय नम: ,ॐ वल्लभाय नम: ,ॐ मदाय नम: , ॐ हर्षाय नम: , ॐ बलाय नम: ,ॐ तेजसे नम: ,ॐ दमकाय नम: ,ॐ सलिलाय नम: ,ॐ गुग्गुलाय नम: ,ॐ कुरूण्टकाय नम:

तो अगर आप भी किसी ऐसी परेशानी का  शिकार हैं, जिसमें अचानक से पैसे रूपये चाहिये, तो यह उपाय शुक्रवार से अपने जीवन में जरूर आज़मायें। मां तो मां है, फिर लक्ष्मी ही क्यों न हों, बेटों के नाम पुकारेंगे तो मां आपके पास जरोर चली आएँगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published.