आखिर क्या है मोनालिसा की इस पेंटिंग का रहस्य, जिसकी कीमत है करीब 6.4 हजार करोड़ रुपये।

आप को बता दें कि 500 साल पहले इटली के एक जीनियस लियोनार्दो दा विंची ने एक ऐसी पेंटिंग बनाई थी जो कि आज भी एक मिस्ट्री बनी हुई है “मोनालिसा” आखिर ऐसे क्या राज छिपे हैं।

इस पेंटिंग में जो इसे दुनिया में सबसे रहस्यमई सबसे फेमस पेंटिंग बनाती है। आज हम मोनालिसा के बारे में ऐसी बातें जानेंगे जो आपको हैरानी में डाल देंगी।

 

मोनालिसा से जुडे 10 अजब-गजब रहस्य

1. 23 जून 1952 को luc maspero नाम के एक यंग फ्रेंच आर्टिस्ट ने पेरिस के एक होटल की चौथी मंजिल से कूदकर अपनी जान दे दी थी। वह मोनालिसा की रहस्यमई मुस्कान के लिए पागल था। वह उनकी सुंदरता पर मोहित था। उसने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा जिसमें उसने मोनालिसा के लिए प्यार और सालों के इंतजार की बात लिखी थी।

2. मोनालिसा के बारे में जो सबसे रहस्यमई बात है। जो आर्टिस्टो और हिस्टोरियंस को सबसे ज्यादा सोचने पर मजबूर करती है वह है मोनालिसा की रहस्यमई मुस्कान। जो अलग-अलग एंगल्स पर देखने पर अलग अलग दिखती है। मतलब बदलती रहती है। पहले यह तस्वीर मुस्कुराती हुई दिखाई देती है। फिर यह मुस्कान फीकी पड़ जाती है और फिर गायब हो जाती हैं।

एक रिसर्च से यह बात पता चली है कि जिस औरत को दा विंची ने इस पेंटिंग में बनाया है वह अपने अंदर कुछ राज छुपाए हुए हैं इसलिए मोनालिसा की मुस्कान इतनी रहस्यमई है!

 

3. कुछ सालों पहले एक डॉक्टर ने यह कह कर सबको हैरानी में डाल दिया कि मोनालिसा की रहस्यमयी मुस्कान का राज है। उसके ऊपर के दो दातों का टूटा होना और यही वजह है कि उसका ऊपरी होंठ थोड़ा दबा हुआ है।

सन 2000 में हार्वर्ड के एक न्यूरोसाइंटिस्ट मार्गरेट ने बताया कि मोनालिसा की मुस्कान नहीं बदलती, बल्कि इंसान का माइंडसेट बदलता है। मतलब यह सब दिमाग का खेल है जैसा आप मोनालिसा के चेहरे को देखना चाहते हो वैसा ही वह दिखेगा यह इस चीज पर डिपेंड करता है कि आप किस चीज पर फोकस करते हैं।

4. लिओनार्दो दा विंची ने मोनालिसा को 1503 में बनाना शुरू किया था। वह 1517 तक इस पर काम करते रहे उन को सबसे ज्यादा समय मोनालिसा के होंठ बनाने में लगा था। मोनालिसा के होंठ बनाने में द विंची ने 12 साल लगा दिए थे।

5. यह बात सच है कि मोनालिसा एक बेहद खूबसूरत पेंटिंग है और शुरू से ही यह काफी मशहूर है। लेकिन इतनी मशहूर यह कभी नहीं हुई। जितनी तब की जब इसे पेरिस के एक म्यूजियम से चुरा लिया गया।

6. दुनिया की सबसे मशहूर पेंटिंग को दुनिया के सबसे बड़े म्यूजियम से चुरा लिया जाना एक बड़ी हैरान करने वाली घटना थी। लेकिन उससे भी ज्यादा हैरान कर देने वाली बात तो यह थी इसकी चोरी के इल्जाम में जिस आदमी को शक के घेरे में लिया गया वह थे एक और महान पेंटर pablo Picasso।

 

जी हां शुरुआत में पाब्लो पिकासो पर यह चोरी करने का इल्जाम लगा। लेकिन बाद में काफी पूछताछ और इन्वेस्टिगेशन के बाद उनसे यह आरोप हटा लिया गया।

7. मोनालिसा की एक जुड़वा पेंटिंग भी उपलब्ध है। जो बिल्कुल लियोनार्दो दा विंची की मोनालिसा जैसी ही दिखती है। कहा जाता है कि दा विंची के समय में ही उनके एक स्टूडेंट francesco melzi ने ही बनाया था। यह दूसरी पेंटिंग स्पेन की राजधानी मेड्रिड के एक म्यूजियम में रखी है।

8. आज तक यह बात रहस्य है की मोनालिसा कौन थी? मतलब दा विंची ने यह किसकी तस्वीर बनाई थी यह कौन औरत थी? ज्यादातर स्कॉलर्स का यह मानना हे कि इस पेंटिंग में जो तस्वीर है वह Lisa gherardini।

जोकि फ्लोरेंस की एक इटालियन औरत थी। लेकिन एक थ्योरी यह भी कहती है की मोनालिसा लियोनार्दो दा विंची की खुद की तस्वीर है। मतलब इस पेंटिंग में उन्होंने खुद को एक औरत के रूप में बनाया था।

 

9. लियोनार्दो दा विंची एक लेखक भी थे। लेकिन हैरानी होती है कि उन्होंने अपने सबसे फेमस पेंटिंग मोनालिसा के बारे में कुछ भी नहीं लिखा। द्वितीय विश्व युद्ध के समय मोनालिसा पेंटिंग को 6 बार अपनी जगह से बदला गया। ताकि यह बेशकीमती पेंटिंग जर्मन नाजियों के हाथ में ना चली जाए।

10. लियोनार्दो के ही एक स्टूडेंट ने 1514 और 1516 के बीच मोनालिसा का एक न्यूड वर्जन भी बनाया था। जिसे mona vanna कहा जाता है। जिसके हाथ और बॉडी की पोजीशन बिल्कुल लियोनार्दो की मोनालिसा जैसी है। कहा यह भी जाता है कि शायद इसे भी लियोनार्दो दा विंची ने बनाया हो यह पेंटिंग पेरिस के एक म्यूजियम में रखी है।

लियोनार्दो ने मोनालिसा को पेंट करने में 30 से भी ज्यादा लेयर्स को इस्तेमाल किया था। उनमें से कुछ लेयर्स तो इंसानी बाल से भी बारीक थी।