HomeUncategorizedसूर्यदेव की रौशनी में इस तरीके से रखे मोरपंख, सोई किस्मत भी...

सूर्यदेव की रौशनी में इस तरीके से रखे मोरपंख, सोई किस्मत भी जाग जाएगी

दोस्तों भाग्य एक ऐसी चीज होता हैं जो हर क्षेत्र में बड़ा प्रभाव डालता हैं. आपके अंदर कितना भी हुनर हो, आप कितनी भी मेहनत कर ले लेकिन यदि अंतिम समय में आपका भाग्य आपको धोखा दे दे तो आपकी सारी कोशिशे धरी की धरी रह जाती हैं. वहीँ यदि आपका भाग्य बुलंद हो तो बिना कोई ख़ास मेहनत के भी आपकी मनोकामना पूर्ण हो जाती हैं. भाग्य की यही खासियत होती हैं ये एक करोड़पति को रोड पर भी ला सकता हैं और एक गरीब को अमीर भी बना सकता हैं. ऐसे में लोग अपने इस भाग्य को चमकाने के लिए कई सारी चीजें ट्रॉय करते हैं. आप ने भी अपने भाग्य को प्रबल बनाने के लिए कई तरह के उपायों के बारे में पढ़ा या सूना होगा. इसी कड़ी में आज हम आपको अपनी किस्मत का तारा चमकाने का सबे बढ़िया तरीका बताने जा रहे हैं. यदि आप इस उपाय को आजमाते हैं तो आपका भाग्य काफी प्रबल हो जाएगा.

इस उपाय को आजमाने के लिए आपको मुख्य रूप से दो चीजों की जरूरत होगी. इसमें पहली चीज हैं स्वयं सूर्यदेव यानी कि सूरज और दूसरी मोरपंख. जैसा कि आप सभी जानते हैं सुरदेव एक शक्तिशाली देवता हैं. उनका तेज़ काफी स्ट्रांग होता हैं. वे चाहे तो किसी की भी किस्मत चमका सकते हैं. वहीँ दुसरो ओर मोरपंख के भी अपने अलग मायने हैं. स्वयं भगवान श्रीकृष्ण इसे अपने मुकुट में लगाए रहते थे. ऐसा कहा जाता हैं कि मोरपंख के अंदर काफी मात्र में पॉजिटिव एनर्जी रहती हैं. इसलिए लोग इसका भारी मात्र में इस्तेमाल करते हैं. ऐसे में यदि आप सूर्य की रौशनी का तेज़ और मोरपंख की पॉजिटिव एनर्जी को एक साथ मिला देते हैं तो इससे अनगिनत लाभ होते हैं. तो चलिए फिर बिना किसी देरी के इस उपाय को करने का सही तरीका और विधि जान लेते हैं.

दोस्तों इस उपाय को आपको रविवार के दिन ही करना हैं. गौरतलब हैं कि रविवार सूर्यदेव का ही दिन होता हैं. ऐसे में इस दिन ये उपाय करने से आपको और भी अधिक लाभ होगा. इस उपाय को करने के लिए आप कहीं से एक बढ़िया मोरपंख ले आए. अब सुबह स्नान कर इस मोरपंख को अपने घर के अंदर या बाहर उस स्थान पर रखे जहाँ सूर्य कि रौशनी सबसे अधिक पड़ती हो. इसके बाद जैसे ही सूर्य की पहली किरने इस मोरपंख को छुएगी इसकी शक्ति दुगुनी हो जाएगी. ऐसा होने पर यानी सूर्य की किरणों के मोरपंख में समावित होने पर आप अपने हाथ जोड़े और सूर्यदेव से अपनी मनोकामना मांगे. अब इस मोरपंख के ऊपर थोड़ा सा जल छिड़के और इसकी कुमकुम एवं चावल से पूजा करे. फिर इस मोरपंख को अपने हाथ में ले और सूर्यदेव की परिक्रमा करते हुए अपने स्थान पर घुमे.

अब आपका ये मोरपंख बेहद शक्तिशाली हो चूका हैं. इसमें काफी ज्यादा मात्र में पॉजिटिव एनर्जी आ चुकी हैं. इसलिए आप इसे पुरे एक हफ्ते अपने पास भाग्य वृद्धि के लिए रख सकते हैं. मसलन यदि आप धन का फायदा चाहते हैं तो इसे तिजोरी में रखे, यदि आप घर में सुख शान्ति चाहते हैं तो इसे लिविंग रूम या बेडरूम में रखे और यदि आप नौकरी या बिजनेस में तरक्की चाहते हैं तो इसे अपने बेग या दूकान में रखे.