अगर आप भी शनिदोष, कुंडली दोष, नौकरी बाधा से है परेशान, तो आंगन में लगाएं ये छोटा पौधा, जो दूर करेगा आपके सभी दोष।

मेहनत तो सभी करते हैं लेकिन सफलता हर किसी को मिल जाए या आवश्यक नहीं, कभी मिल भी जाती है तो वह सफलता जरूरी नहीं कि एक ही बार में मिल जाए। कई कई बार लग जाते हैं उस चीज को पाने में, ऐसा अक्सर इसलिए होता है।

क्योंकि या तो आपकी कुंडली में दोष है या फिर आपके ऊपर शनि की छाया है जिसकी वजह से आपके हर कार्य या तो पूरे ही नहीं होते या फिर समय पर पूरे नहीं हो पाते हैं या फिर ऐसा भी होता है की आप की नौकरी में बार-बार बाधा आ रही है।

वैसे तो हमारे हिंदू धर्म में कई तरह की प्रथाएं होती हैं जिन्हें हम बहुत ही श्रद्धा और भक्ति के साथ मानते हैं। आमतौर पर हम सभी लोग देवी-देवताओं की पूजा करते हैं लेकिन हमारे हिंदू धर्म में कई पशु-पक्षियों तथा पेड़-पौधों में भी देवी देवता का स्वरूप मानकर उन्हें पूजा जाता है।

 

अब जैसे कि कामधेनु गाय में 33 करोड़ देवी देवताओं की छवि मानी जाती है तथा तुलसी के पौधे में धन की देवी माँ लक्ष्मी का वास माना गया है। इसके अलावा और भी कई अन्य ऐसे पशु पक्षी या पेड़ पौधे हैं जिनमें देवी देवताओं की दृष्टि होना माना गया है।

इस उपाय से होंगी सभी समस्या दूर

बता दें की अगर ऐसा आपके साथ भी अक्सर ऐसा ही होता है तो आज हम आपके लिए कुछ उपाय लेकर आए हैं जिन्हें करने से आपके साथ आ रही इस तरह की सारी बाधाएं और समस्याएं हमेशा के लिए दूर हो जाएंगी, तो चलिए जानते हैं कौन सा है वह उपाय।

आपने देखा की आमतौर पर तकरीबन सभी हिन्दू घरों में तुलसी का पौधा देखने को मिल ही जाता है ऐसा इसलिए क्योंकि जाएगा। इस पौधे को ‘देवी’ का स्थान प्राप्त है और इसी वजह से लोग प्रतिदिन नियम से इसकी पूजा भी करते हैं।

 

वैसे आपको यह भी बता दें की ना सिर्फ तुलसी बल्कि इसके अलावा और भी कई पौधे या पेड़ हैं जिन्हें शास्त्रों में बहुत ही पूजनीय माना गया है। जैसे कि पीपल का वृक्ष, आपकी जानकारी के लिए बताते चलें की शनि देवता को प्रसन्न करने के लिए पीपल का वृक्ष सबसे उत्तम माना जाता है हालांकि इसके अलावा यदि आप शमी का वृक्ष की पुजा करते हैं तो भी शनि देवता को प्रसन्न किया जा सकता है।

घर में लगाएं शमी का पौधा

आपको बता दें की जिस तरह तुलसी का पौधा घर में लगाया जाता है उसी तरह से आप अपने घर में शमी का पौधा भी लगा सकते हैं क्योंकि यह भी शुभ माना जाता है।

 

यह घर की नकारात्मक ऊर्जा को अपने भीतर खींच लेता है और घर-परिवार में सकारात्मक ऊर्जा (खुशहाली) को फैलाता है। वास्तु शास्त्र अनुसार शमी के पौधे को घर की उत्तर-पूर्व दिशा में लगाएं। यह घर की सबसे शुभ दिशा मानी जाती है।

शनि पूजा में शमी का पौधा

इन सबसे बचाव हेतु शनि उपासना के दौरान शनि देव को शमी का पौधा अर्पित करने की सलाह दी जाती है। शनि देव की पूजा हमेशा ही सूरज ढलने के बाद की जानी चाहिए।

 

पूजा के दौरान शनि के बीज मन्त्र का जाप करें, शनि देव को तेल और शमी के वृक्ष का पौधा अर्पित करें। जीवन के कष्ट धीरे धीरे दूर होते चले जाएंगे।