तुलसी के सामने 3 बार बोलें यह गुप्त मंत्र, होगा ऐसा चमत्कार आपकी सोई किस्मत जाएगी जाग

नमस्कार दोस्तों

आप सभी लोगों का हमारे लेख में स्वागत है दोस्तों हिंदू धर्म में तुलसी का पौधा बहुत ही पवित्र माना गया है और इसकी पूजा भी की जाती है तुलसी के पौधे के पत्ते के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यह मात्र पता नहीं है बल्कि एक वरदान है चाहे तुलसी के पौधे को आयुर्वेद की दृष्टि से ले लिया जाए या फिर ज्योतिष में ले लिया जाए या फिर पूजा में लिया जाए इसका सभी जगह बहुत ही महत्व होता है तुलसी के पौधे के विषय में बहुत से ग्रंथों में बहुत सी बातों का उल्लेख किया गया है और यही वजह है कि तुलसी के पौधे को औषधि की संज्ञा भी दी गई ह ज्यादातर सभी लोग रोजाना तुलसी के पौधे का दर्शन अवश्य करते हैं और इसके पत्तों का सेवन भी करते हैं इसके अतिरिक्त तुलसी के पत्तों का प्रयोग पूजा में भी किया जाता है इसे मोक्ष दायक भी माना गया है ऐसी मान्यता है कि तुलसी के पौधे की पूजा करने से व्यक्ति को मन की शांति प्राप्त होती है आप तुलसी के पत्ते को किसी भी चीज़ में देवी देवताओं को लड्डू आदि में भोग लगा सकते हैं जिस देवी देवताओं की पूजा करते हैं उनकी पूजा थाली में तुलसी का पत्ता डालना बहुत ही आवश्यक माना जाता है।

वैसे देखा जाए तो तुलसी को बहुत से प्रयोगों में लाया जाता है तुलसी के पत्ते हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं इससे हमारे शरीर की बहुत सी बीमारियां दूर रहती हैं आयुर्वेद में तुलसी के पत्तों के विषय में बहुत सी बातें कही गई हैं जिनका प्रयोग करके हम बहुत सी बीमारियों से बच सकते हैं इसके अलावा ज्योतिष शास्त्र के अनुसार तुलसी का प्रयोग हम अपनी परेशानियों को दूर करने के लिए भी कर सकते हैं आज हम आपको इस लेख के माध्यम से तुलसी से जुड़ा हुआ एक ऐसा उपाय बताने जा रहे हैं जिस उपाय को अपनाकर आप अपने जीवन से सभी प्रकार की समस्याएं और कष्टों से छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं यदि आप इस उपाय को अपनाते हैं तो इससे आपके जीवन में सुख समृद्धि का आगमन होता है और सभी संकट से छुटकारा मिलता है।

तुलसी के पौधे को रोजाना जल अवश्य देना चाहिए और इसकी पूजा भी करनी चाहिए परंतु जब आप रोजाना तुलसी के पौधे को जल अर्पित करते हैं तो उस दौरान दो अक्षर के इस मंत्र का उच्चारण किया जाए तो इससे आपको बहुत ही शुभ लाभ प्राप्त होता है जब आप तुलसी के पत्ते को तोड़ते हैं तो इस मंत्र का उच्चारण करना चाहिए तुलसी के पत्ते को ऐसे ही नहीं तोड़ना चाहिए पहले आपको दो बार चुटकी बजाना है उसके पश्चात आपको नीचे दिए हुए मंत्र का उच्चारण करना है।

ॐ सुभद्राय नमः l ॐ सुप्रभाय नमः , हृदयानंद कारीनीफ नारायणा नारायणास्त्र l

यदि आप इन मंत्रों का उच्चारण करते हैं और उसके पश्चात पत्ते को तोड़ते हैं तो ऐसा माना जाता है कि इससे व्यक्ति की सभी इच्छाएं पूरी होती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.